Ghaziabad Shamshan Ghat: गाजियाबाद श्मशान घाट हादसे में 25 की मौत, ईओ समेत 3 गिरफ्तार-ठेकेदार फरार, सड़क पर उतरे परिजन

Ghaziabad Shamshan Ghat Hadsa: उत्तर प्रदेश (Uttar Preadesh) में गाजियाबाद के मुरादनगर में श्मशान घाट (Roof collapse at Muradnagar Cremation Ground) पर हुए हादसे में अब तक 25 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि एक दर्जन से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। इस हादसे के बाद लापरवाही और भ्रष्टाचार के आरोप में पुलिस ने ठेकेदार, नगरपालिका की कार्यपालन अधिकारी समेत कई लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। ईओ, जूनियर इंजीनियर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है, जबकि ठेकेदार फरार है।

वहीं हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों ने मुरादनगर में गाजियाबाद-मेरठ रोड पर शव रखकर हंगामा शुरू कर दिया है। यहां करीब 15 किलोमीटर लंबा जाम लग गया है।

पुलिस ने मुरादनगर नगरपालिका ईओ निहारिका सिंह, जूनियर इंजीनियर चंद्रपाल और सुपरवाइजर आशीष को गिरफ्तार किया है। जबकि ठेकेदार अजय त्यागी अभी भी फरार चल रहा है। वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गाजियाबाद प्रशासन से श्मशान घाट पर हुए इस दर्दनाक हादसे की पूरी रिपोर्ट मांगी है।

अंतिम संस्कार के दौरान ढही छत
दरअसल यह हादसा रविवार को मुरादनगर के उखलारसी में हुआ। पीड़ितों में करीब सभी लोग एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार में श्मशान घाट पहुंचे थे। पुलिस ने बताया, जब छत ढही तो बारिश से बचने के लिए कई लोग शेड के नीचे खड़े थे जिसे हाल ही में बनाया गया था। इस हादसे में जिन लोगों की मौत हुई, वे सभी पुरूष और जयराम के रिश्तेदार या पड़ोसी थे, जिनका उस वक्त वहां अंतिम संस्कार किया जा रहा था।

राष्ट्रपति और पीएम ने जताया दुख
छत ढहने के बाद श्मशान घाट पर सबसे पहले स्थानीय लोग पहुंचे। उसके बाद पुलिस और एनडीआरएफ की टीम पहुंची। रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर मलबे से मृतकों एवं घायलों को निकाला गया।राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर दुख जताया है।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘मुरादनगर में हुए दुर्भाग्यपूर्ण हादसे की खबर से अत्यंत दुख पहुंचा है। इस दुर्घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं, साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’

CM योगी ने मृतकों के परिवारों के लिए दो-दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता की घोषणा की है। इसके साथ ही मेरठ के संभागीय आयुक्त और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक को इस घटना की रिपोर्ट देने का भी निर्देश दिया है। केंद्रीय मंत्री और गाजियाबाद के सांसद वीके सिंह, पुलिस और नागरिक प्रशासन के अधिकारियों ने घटनास्थल का दौरा किया।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password