Ghaziabad Schools Right To Education : इन स्कूलों की मान्यता हो सकती है रद्द, कहीं आपका बच्चा भी तो नहीं पड़ता इसमें, चेक करें लिस्ट

Ghaziabad Schools Right To Education : इन स्कूलों की मान्यता हो सकती है रद्द, कहीं आपका बच्चा भी तो नहीं पड़ता इसमें, चेक करें लिस्ट

गाजियाबाद। शिक्षा का अधिकार Ghaziabad Schools Right To Education  इन स्कूलों की मान्यता हो सकती है रद्द, कहीं School Braking news आपका बच्चा भी तो नहीं पड़ता इसमें, ये है कारण Shiksha Ka Adhikar अब हर किसी का accreditation मौलिक अधिकार है। जिसके तहत गरीब परिवारों के बच्चों को आरटीआई के तहत एडमीशन देना अनिवार्य होता है। सरकार ने भी स्कूलों को भी निदेर्शित किया है। जिसमें बच्चों को स्कूल की तरफ से राइट टू एज्यूकेशन (Right to Education) एक्ट के तहत दाखिले 12 प्रतिशत सीटों पर दाखिया दिया जाता है। लेकिन आपको बता दें इसके लिए गाजियाबाद में जिले के 34 स्कूल ऐसे हैं जिन्होंने इस नियम का पालन नहीं किया है और इनकी इस लापरवाही पर प्रशासन सख्त दिखाई दे रहा है। ऐसे में इन स्कूलों की मान्यता accreditation रद्द की जा सकती है।

नोटिस भेजने के बावजूद नहीं दिया गया जबाव —
आपको बता दें जिले के नामचीन 34 स्कूलों द्वारा गरीब परिवारों को आरटीआई के तहत राइट टू एजूकेशन के अंतर्गत गरीब परिवारों के बच्चों को प्रवेश न दिए जाने पर प्रशासन ने इन स्कूलों को दो बार नोटिस भेजा है। इसके बावजूद भी स्कूल द्वारा इसका जबाव नहीं दिया गया है। जिसके चलते ऐसी संभावना जताई जा रही है कि इन स्कूलों की मान्यता रद्द की जा सकती है।

School Reopen Big Breaking : छात्रों को बड़ी राहत, बढ़ गईं गर्मियों की छुट्टियां!

एक्शन में आए डीएम —
ऐसी जानकारी मिली है कि स्कूलों की इस लापरवाही को देखते हुए गाजियाबाद के डीएम राकेश कुमार सिंह सख्त हो गए हैं। जिसके बाद सिटी मजिस्ट्रेट गंभीर सिंह ने खंड शिक्षा अधिकारियों के साथ मीटिंग लेकर ऐसी स्कूलों की सूची तैयार की है जिन्होंने इस नियम का पालन नहीं किया है। इसके बाद ऐसी आशंका है कि ​स्कूलों की मान्यता रद्द करने को लिए डीएम की ओर से शासन को फाइल भेजी जा सकती है। (Rakesh Kumar Singh)

54 स्कूलों को भेजा था नोटिस —
आपको बता दें कि शिक्षा विभाग ने आरटीई के तहत गरीब परिवारों के बच्चों के दाखिले न दिए जाने वाले 54 स्कूलों को नोटिस भेजा था। नोटिस जारी होने के बाद इनमें से 20 स्कूलों द्वारा तो गरीब बच्चों को प्रवेश दे दिया गया। लेकिन इनमें 34 स्कूलों अभी भी ऐसे हैं जिन्होंने एडमीशन नहीं दिया है। जिसमें कुछ नामचीन स्कूल भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें : School Reopen Big Breaking : छात्रों को बड़ी राहत, स्कूल खुलने से पहले शिक्षा विभाग का बड़ा आदेश

ये हैं 34 स्‍कूल –

एलन हाउस पब्लिक स्कूल वसुंधरा, एमिटी इंटरनेशनल स्कूल वसुंधरा सेक्टर-1 व सेक्टर-6, देहरादून पब्लिक स्कूल गोविंदपुरम, सिल्वर शाइन पब्लिक स्कूल शास्त्री नगर, सीपी आर्या पब्लिक स्कूल स्वर्ण जयंतीपुरम गाजियाबाद, देहरादून पब्लिक स्कूल संजय नगर, दिल्ली मारथोमा पब्लिक स्कूल कर्पूरीपुरम, गाजियाबाद पब्लिक स्कूल इंटरनेशनल दुहाई, परमहंस पब्लिक स्कूल संजय नगर, गुरुकुल द स्कूल एनएच-9, दिल्ली पब्लिक स्कूल मेरठ रोड, जीडी गोयनका पब्लिक स्कूल राजनगर एक्सटेंशन, परिवर्तन स्कूल राजनगर, दशमेश पब्लिक स्कूल शालीमार गार्डन, डीएलएफ पब्लिक स्कूल राजेंद्र नगर, ग्रीन फील्ड पब्लिक स्कूल शालीमार गार्डन, होली एंजेल्स स्कूल शालीमार गार्डन, खेतान पब्लिक स्कूल राजेंद्र नगर, गाजियाबाद पब्लिक स्कूल नेहरू नगर, शंभू दयाल ग्लोबल स्कूल, बीआर पब्लिक जूनियर स्कूल विजयनगर, चिल्ड्रन एकेडमी प्रताप विहार, सीएसएचपी पब्लिक स्कूल विजयनगर, दयाल पब्लिक स्कूल विजयनगर, गुरुकुल द स्कूल क्रॉसिंग रिपब्लिक, इंदिरापुरम पब्लिक स्कूल क्रॉसिंग रिपब्लिक, जेकेजी इंटरनेशनल स्कूल विजयनगर, लीलावती पब्लिक स्कूल प्रताप विहार, रोजबेल पब्लिक स्कूल विजयनगर, एसएसके सीनियर सेकेंडरी स्कूल प्रताप विहार, सफायर इंटरनेशनल स्कूल क्रॉसिंग रिपब्लिक।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password