Gandhi Jayanti 2020 : गांधीजी से जुड़ी दुर्लभ चीजें को पाने के लिए देश के किसी भी कोने में पहुंच जाते है रोहित

gandhi jayanti 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले के रहने वाले रोहित खन्ना महात्मा गांधी के विचारों से इतना प्रभावित हैं, कि वो पिछले 15 सालों से महात्मा गांधी से जुड़ी पुरानी चीजें ढूंढ़-ढूढ़कर संजो रहे हैं। उनके पास गांधीजी से जुड़ी दुर्लभ चीजें मौजूद हैं, जो शायद ही लोगों ने कभी देखी होंगी।

तलाशकर अपने पास रख लेते हैं
जबलपुर के सिविल लाइन इलाके में रहने वाले रोहित खन्ना एक निजी संस्थान में नौकरी करते हैं। गांधीजी के प्रति उनकी दीवानगी इतनी ज्यादा है कि वे जहां भी जाते हैं , गांधी से जुड़ी चीजें तलाशकर अपने पास रख लेते हैं, चाहे इसके लिए उनको कितनी भी कीमत चुकानी पड़े. रोहित को गांधी जी से इतना लगाव है कि उन्हें गांधी से जुड़ी चीजों का पता भर लग जाए, तो वो देश के किसी भी कोने में पहुंच जाते हैं। यही कारण है कि उन्होंने राजस्थान, गुजरात, कश्मीर, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सहित कई प्रदेशों में घूमते हुए बापू से जुड़ी कई चीजों को अपने पास संभालकर रखा है।

 

दुर्लभ पेंटिंग है मौजूद
रोहित खन्ना के पास महात्मा गांधी से जुड़ी नायाब चीजें जैसे उनके चित्र से अंकित सोने और चांदी के सिक्के, बापू की तस्वीरें और मूर्ति, साल 1945 का ताला, 1950 में बनीं गांधीजी की दुर्लभ पेंटिंग मौजूद है जो पीपल के पत्ते पर बनाई गई है. इसके साथ ही रोहित खन्ना के इस कलेक्शन में ऐसी कई चीजें हैं, जो कहीं न कहीं गांधीजी के जीवन का अहम हिस्सा थीं।

देेेश भर के स्कूलों में प्रदर्शनी लगाते हैं रोहित
गांधी के विचारों और उनके जीवन के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए रोहित खन्ना प्रदर्शनी भी लगाते हैं. उनका कहना है कि आज की पीढ़ी महात्मा गांधी को सिर्फ इसलिए जानती है कि वे राष्ट्रपिता हैं, लेकिन उनके जीवन के बारे में बच्चों को पता नहीं हैं। इसीलिए रोहित देेेश भर के स्कूलों में प्रदर्शनी लगाते हैं, जिससे बच्चों को गांधी के जीवन के बारे में पता लगे और वो उनके विचारों को अपना सकें।

दिलो में आज भी वो ज़िन्दा है
बाबू के नाम से देश दुनिया मे प्रख्यात राष्ट्र पिता महात्मा गांधी इस दुनिया में नहीं है लेकिन उन को समझने और उनके विचारों को पढ़ने वालों के दिलो में आज भी वो ज़िन्दा है। रोहित जैसे लोग आज भी बाबू से जुड़ी बस्तुओ को पाने के लिए देश दुनिया मेें कही भी जाने के लिए तैयार बैठे रहते है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password