सुबह घरवालों ने मरा समझकर कर दिया अंतिम संस्कार, शाम को घर लौट आया युवक

सुबह घरवालों ने मरा समझकर कर दिया अंतिम संस्कार, शाम को घर लौट आया युवक

Share This

श्योपुर: क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है कि आपने किसी व्यक्ति की अंत्येष्टि के बाद वो दोबारा घर लौटकर आ गया हो, अगर नहीं तो आपको एक मामला बताते हैं जहां एक युवक की लाश का अंतिम संस्कार कर दिया और उसके बाद वह शाम को अपने घर लौट कर आ गया। परिवार वालों ने बताया की वह 4-5 दिन से लापता था। कोतवाली पुलिस को गुरूवार की शाम श्मशानघाट के पास अज्ञात शव मिला। जिसके बाद शव की शिनाख्त हुई तो बंटी शर्मा ने उसे लापता भाई दिलीप के रूप में की और शव का अंतिम संस्कार भी कर दिया। लेकिन पूरा घर तब हैरान रह गया जह अचानक लापता युवक सही सलामत घर लौट आया।

दरअसल, गुरुवार को शाम के समय शमशान घाट के पास पुलिस को एक अज्ञात युवक की लाश मिली। पुलिस ने इसका फोटो सोशल मीडिया पर वायरल किया जिसके बाद वायरल तस्वीर को देखकर शुक्रवार की सुबह बड़ौदा के बंटी शर्मा ने मृतक को 4-5 दिन से गायब अपना भाई दिलीप का शव बताया। इसके बाद पुलिस ने शव का पीएम कर बॉडी परिजनों को सौंप दी, पुलिस ने भी अपनी पंचनामा सहित अन्य कागजी कार्रवाई पूरी कर ली। लेकिन रात 8 बजे दिलीप घर लौट आया, जिसे देखकर आसपड़ोस के लोगों सहित पुलिस और परिवार वाले भी हैरान रह गए।

दिलीप ने कहा- ‘मैं तो जिंदा हूं, आपने मार दिया’

घर लौटने के बाद दिलीप ने अपने परिजन से कहा कि मुझे मरा समझ कर मेरा अंतिम संस्कार भी कर दिया। जबकि मैं तो जिंदा हूं। दिलीप ने नाराजगी भी जताई पर परिवार ने उसे मना लिया। दिलीप के बारे में बताया गया कि वह मानसिक तौर पर ठीक नहीं है। ऐसे में वह घर से कहीं भी निकल जाता है और कई दिनों तक नहीं लौटता है। इस बार भी वह करीब 4-5 दिनों से लापता था। ऐसे में जो मृतक था वह भी दिलीप से मिलता-जुलता था। इसी कारण गलतफहमी हो गई।

थाना प्रभारी ने कहा दिलीप जिंदा है इस बारे में कोई जानकारी नहीं

थाना प्रभारी देवेंद्र कुशवाह का कहना है कि बंटी शर्मा ने डेडबॉडी की पहचान अपने भाई दिलीप के रूप में की थी। उसी के बाद उन्हें शव सौंपा गया। दिलीप जिंदा है। इसकी जानकारी मुझे नहीं है।

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password