बाघ के तस्कर गिरोह को पकड़ने में वन विभाग को मिली बड़ी सफलता

chhattisgarh news: बाघ के तस्कर गिरोह को पकड़ने में वन विभाग को मिली बड़ी सफलता, जानिए पूरा मामला

tiger smuggler gang
Share This

रायपुर। छत्तीसगढ़ में वन विभाग की संयुक्त टीम ने वन तस्करी करने वाले गिरोह का भंडाफोड कर अबतक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है। मंत्री मोहम्मद अकबर ने प्रदेश में हो रहे वन्यजीवों की तस्करी पर चिंता जाहिर की थी। जिसके बाद विभाग की टीम ने सघन अभियान चलाकर अबतक 39 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। जबकि 7 आरोपी अभी फरार  हैं जिनकी तलाश की जा रही है।

पुलिस ने इन आरोपी के पास से बाघ, तेंदुआ, हिरण,उल्लू,भालू सहित कई दूसरे जीवों के अवशेष बरामद किए गए हैं आपको बतादें कि 3 जुलाई को बीजापुर के रुद्रारम गांव से बाघ की तस्करी के आरोप में 9 आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

आरोपी महाराष्ट्र के तस्करों से भी जुड़े

इन आरोपियों के निशानदेही पर पुलिस ने कार्रवाई कर 18 और आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल में भेजा पुलिस ने बताया कि इन तस्करों के संबंध महाराष्ट्र के तस्करों से भी जुड़े हुए हैं जिनकी और सघन कार्रवाई की जा रही है। वहीं इस संयुक्त कार्रवाई से पुलिस और वन विभाग की सराहना की जा रही है।

अभी तक 39 आरोपियों को भेजा गया जेल

प्रकरण में मुख्य रूप से आरोपी तुलसीराम, रामकुमार टिंगे, ओमप्रकाश ठाकुर, गणेश यालम एवं मनोज कुरसम, अमित कुमार झा, आरती दास गंधर्व, पुतुल बर्मन (महिला आरोपी), पीतांबर साहू, सुधाकर हटवार, श्यामराव शिवनकर, शालीकराम मरकाम, अशोक खोटेले, जागेश्वर साहू, धर्माराव चापले, श्रवण झाड़ी, रंजीत कुलदीप, अली बक्श खान, किशोर दशरिया आदि की बाघ, तेंदुआ की खाल, कछुआ और अन्य वन्यजीवों की खरीदी-बिक्री में संलिप्तता रही है।

अपराधों की रोकथाम अभियान जारी

रायपुर, 20 जुलाई 2023/वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर के मार्गदर्शन में राज्य में विभाग द्वारा वन अपराधों की रोकथाम के लिए सघन अभियान जारी है। इस कड़ी में बाघ के तस्कर गिरोह को पकड़ने में वन विभाग को बड़ी कामयाबी मिली है। इसके तस्कर में संलिप्त अभी तक 39 आरोपियों को जेल भेजा गया।

आरोपियों के पास इतनी चीजें मिली

प्रकरण में आरोपियों से बाघ की खाल, 02 नग हिरण के सींग एवं बाघ की हड्डियां, तेंदुआ का खाल, कोटरी सींग-2 नग, कोटरी का कपाल -01 नग, उल्लू का कपाल, उल्लू का पंजा-02 नग, सांबर का सींग-02 नग, भालू का नाखून-04 नग, कार, मोटरसायकल, मोबाईल फोन, जी.आई.तार. का फंदा आदि सामग्री बरामद की गई है।

मामले में हुई संयुक्त कार्रवाई

इंद्रावती टायगर रिजर्व के उप संचालक, धम्मशील गणवीर ने बताया कि यह सम्पूर्ण कार्रवाई संयुक्त रूप से टीम गठित कर की गयी है। जिसमें उदन्ती सीतानदी टायगर रिजर्व के उप संचालक श्री वरून जैन, वनमण्डलाधिकारी दुर्ग श्री शशी कुमार, शशिगानंदन वनमण्डलाधिकारी पश्चिम भानुप्रतापपुर एवं सबंधित वनमण्डल के टीम द्वारा इस बड़े तस्कर गिरोह को पकड़ने में सफलता हासिल की है। इस कार्यवाही में पुलिस विभाग का भी सराहनीय योगदान रहा।

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password