Flood In MP: प्रदेश में भीषण बाढ़ ने मचाई जमकर तबाही, 189 छोटे और 7 बड़े पुल क्षतिग्रस्त, 207 करोड़ के नुकसान का अनुमान

ग्वालियर। प्रदेश में बीते दिनों से जारी बारिश ने जमकर तबाही मचाई है। ग्वालियर चंबल संभाग के जिलों में मूसलाधार बारिश में कई गांव पूरी तरह डूब गए। वहीं सैकड़ों एकड़ की फसल बारिश की भेंट चढ़ गई। वहीं मूसलाधार बारिश में सैकड़ों छोटे पुल-पुलिया के साथ 7 बड़े पुल पानी में बह गए। वहीं बाढ़ में फंसे करीब 32 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। ये सभी लोग अभी राहत कैंपों में रह रहे हैं। सरकार का दावा है कि कुल 8832 लोगों को बाढ़ से बचाया गया है। हालांकि अब बारिश का कहर थम गया है। वहीं पानी भी धीरे-धीरे उतरने लगा है। सीएम शिवराज सिंह ने सेना, एन.डी.आर.एफ., स्थानीय प्रशासन, एसडीआरएफ की टीमों की जमकर तारीफ की है। इन दलों ने बाढ़ में फंसे हजारों लोगों की जिंदगी बचाई है। वहीं बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बिजली और पानी बंद हो गया है। सीएम शिवराज सिंह ने हैंडपंप जल्द से जल्द चालू कराने के निर्देश दिए हैं।

संबंधित मंत्रियों के निर्देशन में टास्क फोर्स समिति के सभी 12 विभाग युद्ध स्तर पर राहत और पुनर्वास का काम करें। इसके साथ ही बाढ़ पीड़ितों के लिए 6-6 हजार रुपए मदद देने का भी ऐलान किया है। सीएम शिवराज सिंह ने हाल ही में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया था। इस दौरान सीएम शिवराज सिंह ने कहा था कि बाढ़ में जिनके मकान बहे हैं उन्हें 6-6 हजार रुपए की तात्कालिक सहायता दी जाएगी। ताकि ऐसे लोग अपनी रहने की फिलहाल व्यवस्था कर सकें। इसके बाद बाढ़ का पूरा सर्वे किया जाएगा। जिन भी मकानों का नुकसान हुआ है उन्हें 1 लाख 20 हजार रुपये की राशि दी जाएगी।

पुलों की भी मरम्मत के दिए निर्देश…
सीएम शिवराज सिंह ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया था। सीएम ने कहा कि बाढ़ प्रभावित हर परिवार को 50-50 किलो गेहूं और आटा दिया जाएगा। साथ ही शिवराज सिंह ने लोक यांत्रिकी विभाग को भी निर्देश दिए हैं कि जल्द ही पीने का साफ पानी सप्लाई किया जाए। इसके साथ ही जलस्रोतों को क्लोरीन से स्वच्छ किया जाए। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में क्षतिग्रस्त सड़कों और पुल-पुलियों की मरम्मत भी तत्काल प्रभाव से की जाए। जानकारी के मुताबिक बाढ़ से करीब 189 छोटे पुल-पुलिया और 7 बड़े पुल बुरी तरह टूट गए हैं। इससे लगभग 207 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान लगाया जा रहा है।

खाद्य विभाग के मुताबिक 180 उचित मूल्य दुकानों में बाढ़ का पानी भर गया है। इस कारण राशन वितरण की वैकल्पिक व्यवस्था करनी पड़ रही है। बता दें कि बीते दिनों ग्वालियर चंबल संभाग में जमकर बारिश हुई है। इस बारिश के यहां बाढ़ की स्थिति आ गई थी। यहां हजारों लोगों की जिंदगियां बाढ़ के पानी में घिर गई थी। हालांकि सीएम शिवराज सिंह ने तत्काल प्रभाव से सेना के दलों को राहत कार्यों के लिए उतार दिया था। अब स्थिति धीरे-धीरे काबू में आ रही है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password