Film Downloading Rules : क्या आप भी इंटरनेट से फिल्म करते हैं डाउन लोड, क्या कहता है कानून

Film Downloading Rules : क्या आप भी इंटरनेट से फिल्म करते हैं डाउन लोड, क्या कहता है कानून

नई दिल्ली। फिल्मों के शौकीन Film Downloading Rules: लोगों के लिए पिक्चर देखने की दीवानगी इस कदर होती है कि किसी भी मूवी के रिलीज होने के एक—दो दिन के अंदर ही वे तुरंत इसे इंटरनेट से डाउनलोड करके देखने लगते हैं। इस चक्कर में कई बार फिल्म लीक भी हो जाती है। पर क्या आप जानते हैं इंटरनेट को लेकर कानून क्या कहता है। क्या इसका उपयोग करना या डाउनलोड करना गैरकानूनी है। चलिए जानते हैं।

साइड्स से करते हैं डाउनलोड —
होता ये है कि लोग ​फिल्म रिलीज करने वाली साइड्स पर जाकर ​डाउनलोड करने में लग जाते हैं। इसके लिए कई जोड़—तोड़ करके इसकी जुगाड़ की जाने लगती है। (Film Download) इतना ही नहीं स्वयं तो देखते ही हैं लेकिन अपने दोस्तों से भी साझा की जाती है। (Latest Film Download) लेकिन, एक कुछ लोगों का मानना है कि ऐसे फिल्म डाउनलोड करके देखना गलत है। तो चलिए जानते हैं कि फिल्म डाउनलोड करना सही है या गलत।

फिल्म डाउनलोड करने को लेकर क्या कहता है नियम —
डाउनलोड करने वाले लोगों में हो सकता है आप भी शामिल हों। इस कंडीशन में आपके लिए भी जानना जरूरी है कि क्या सच में वेबसाइट्स से मूवी को डाउनलोड करना सही है या गलत।

कई वेबसाइटों पर लगा बैन
अक्सर ऐसा आपने अक्सर देखा होगा कि फिल्म के लीक होने की खबर पर कुछ साइड्स के नाम टॉप पर होते हैं। वो इसलिए क्योंकि सरकार द्वारा इन साइडटस पर बैन लगा दिया गया है। ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि इन साइट्स पर पायरेटे्ड मूवी को आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो ये गैरकानूनी कामों की श्रेणी में आता है।

क्या पाइरेटेड फिल्म देखना भी गैर कानूनी है?
टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, इसका जवाब कुछ साल पहले बॉम्बे हाईकोर्ट ने अपने फैसले में दिया था। जब हाई कोर्ट का कहना था कि इस तरह का कंटेंट देखना कोई अपराध नहीं है। पर साथ में कोर्ट ने यह भी कहा है कि इसका सार्वजनिक रूप से वितरण और इसे बेचना या किराए पर देना अपराध की श्रेणी में है। ऐसा करने के लिए कंटेट के मालिक से इजाजत लेनी होगी। जिसके बाद ही ऐसा किया जा सकता है।

आपको बता दें कुछ साल पहले इंटरनेट पर मैसेज जारी हो रहे थे जिसके अनुसार पाइरेटेड कंटेंट देखना, डाउनलोड करना या दिखाना, कॉपीराइट अधिनियम, 1957 की अलग-अलग धाराओं के तहत अपराध के रूप में दंडनीय है। हालांकि, इसके बाद हाईकोर्ट ने कहा था कि ऐसा कंटेंट देखना गैर कानूनी नहीं है।

कहां का कंटेंट कर सकते हैं डाउनलोड —

अब अगर बात करें कि फिल्म को डाउनलोड किया जा सकता है या नहीं तो आपको बता दें इस पर कुछ कह क्लीयर कहा नहीं जा सकता। क्योंकि कुछ कंडीशन पुराने फैसले पर डिपेंड हैं। वो इसलिए क्योंकि कुछ वेबसाइट्स द्वारा दिया जाने वाला कंटेंट स्वतंत्र रूप से लाइसेंस मिला है। यानि इस साइड्स से कंटेंट को डाउनलोड करने की परमिशन है। वहीं कुछ इसकी अनुमति नहीं देते जिसका कंटेंट कॉपीराइट से सुरक्षित होता है। यानि इसे आप बिना साइड की परमिशन से डाउनलोड नहीं कर सकते। इसे गैरकानूनी माना जा सकता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password