Kisan Andolan: किसानों के लिए कांग्रेस का मार्च, प्रियंका हिरासत से रिहा, राहुल बोले- जब कानून वापस होगा तभी किसान हटेगा

Farmers Protest against farm laws in Delhi: कृषि कानूनों के खिलाफ लगभग एक महीने से देश की राजधानी दिल्ली में किसानों का आंदोलन जारी है। अब भी किसानों और सरकार के बीच गतिरोध कम होता नहीं नजर आ रहा है। इसी बीच आज किसानों के पक्ष में कांग्रेस नेता राहुल गांधी सड़क पर उतरे। किसानों के समर्थन में कांग्रेस नेता राहुल के नेतृत्व में राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकालने वाले थे।

लेकिन प्रशासन ने मार्च के लिए इजाजत नहीं दी थी। नई दिल्ली इलाके में धारा 144 लगा दी गई। जब कांग्रेस ने मार्च निकाला तो प्रियंका समेत कई कांग्रेस नेताओं को हिरासत में ले लिया गया। हालांकि बाद में उन्हें रिहा कर दिया गया।

दरअसल राहुल गांधी की अगुवाई में विपक्ष ने भी पहले ही हल्ला बोलने की पूरी तैयारी कर ली थी। कांग्रेस ने जैसे ही मार्च निकाला पुलिस ने उन्हें रोक दिया। इस दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत कांग्रेस के कई नेताओं को हिरासत में ले लिया गया। वहीं कृषि कानूनों के संबंध में राहुल गांधी पार्टी के तीन नेताओं के साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिले। कांग्रेस नेता ने दो करोड़ किसानों के हस्ताक्षर वाला ज्ञापन राष्ट्रपति को सौंपा और नए कृषि कानूनों को वापस लेने की अपील की।

राहुल गांधी ने कृषि कानून के मसले पर राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद केंद्र पर हमला बोलते हुए कहा, राष्ट्रपति से हमने कहा है कि इन कानूनों से किसानों को नुकसान होगा। पूरा देश देख रहा है कि किसान कानून के खिलाफ खड़ा है। मैं प्रधानमंत्री से कहना चाहता हूं, किसान हटेगा नहीं, जबतक कानून वापस नहीं होगा तबतक कोई वापस नहीं जाएगा।

राहुल ने ये भी कहा, सरकार संसद का संयुक्त सत्र बुलाए और इन कानूनों को तुरंत वापस ले। आज देश का किसान दुख और दर्द में हैं, कुछ किसानों की मौत भी हुई है।

प्रियंका ने मोदी सरकार को घेरा
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, जवान किसान का बेटा होता है, जो किसानों की आवाज ठुकरा रहा है, अपनी जिद्द पर अड़ा हुआ है जबकि देश का अन्नदाता बाहर ठंड में बैठा है तो उस सरकार के दिल में क्या जवान, किसान के लिए आदर है या सिर्फ अपनी राजनीति, अपने पूंजीपति मित्रों का आदर है?

मार्च से पहले कांग्रेस के दफ्तर में राहुल गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और सांसदों से मुलाकात की। कांग्रेस का यह मार्च विजय चौक से राष्ट्रपति भवन तक निकाला जाना था। हालांकि इससे पहले ही प्रशासन ने भी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सख्ती दिखाना शुरू कर दिया था।

राहुल ने ट्वीट करके भी सरकार को घेरा है। राहुल ने लिखा, ‘भारत के किसान ऐसी त्रासदी से बचने के लिए कृषि-विरोधी क़ानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं, इस सत्याग्रह में हम सबको देश के अन्नदाता का साथ देना होगा।

बता दें कि, केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लाए गए कृषि क्षेत्र से जुड़े तीन नए कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर कई राज्यों के किसान लगातार आंदोलन कर रहे हैं। सरकार की तरफ से पेश किए गए ताजा संशोधनों के प्रस्ताव को भी किसानों ने ठुकरा दिया है। किसानों का कहना है, सरकार बिना शर्त बातचीत की टेबल पर आए। इससे पहले भी कई बार किसानों और सरकार के बीच बातचीत हुई लेकिन कोई हल नहीं निकला।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password