Family Pension : मोदी सरकार का बड़ा फैसला, ये लोग जिंदगीभर ले सकेगें Pension

Family Pension : मोदी सरकार का बड़ा फैसला, ये लोग जिंदगीभर ले सकेगें Pension

family pention

नई दिल्‍ली। सरकार ने फैमिली पेंशन Family Pension के नियमों में कुछ बदलाव करके शारीरिक व मानसिक रूप से अक्षम लोगों के लिए बड़ी राहत भरी खबर दी है। जी हां Family Pension के हकदार लोगों के लिए अब जिंदगी भर पेंशन मिलेगी। मृतक सरकारी कर्मचारी को ​मिलने वाले अंतिम वेतन का 30% और संबंधित पेंशनभोगी के लिए उस पर स्वीकार्य मंहगाई राहत (Dearness Relief) को मिलाकर ये पेंशन दी जाएगी।

इस तरह समझे पेंशन का गणित
सरकार ने मानसिक या शारीरिक रूप से अक्षम पीड़ित बच्चों व भाई-बहनों को दी जाने वाली पारिवारिक पेंशन Family Pension  की आय लिमिट (income limit) बढ़ाने का फैसला लिया है। पेंशन के इस गणित को ऐसे समझा जा सकता है मान लीजिए परिवार के पास सभी स्त्रोंतों से आने वाली कुल आय परिवार को मिलने वाली पारिवारिक पेंशन से कम है तो ही वे इस पारिवारिक पेंशन के हकदार होंगे। यानि ये बच्चे और भाई-बहन अब आजीवन पारिवारिक पेंशन के लिए पात्र होंगे। इसे दूसरे तरीके से ऐसे समझ सकते हैं मान लीजिए अगर उनकी इस पारिवारिक पेंशन के अलावा दूसरे स्रोतों से अर्जित कुल आय पारिवारिक पेंशन से कम रहती है। यानि मृतक सरकारी कर्मचारी द्वारा प्राप्त अंतिम वेतन का 30% और संबंधित पेंशनभोगी के लिए उस पर स्वीकार्य मंहगाई राहत (Dearness Relief) को मिलाकर पेंशन बनेगी।

ये होंगे पात्र
वर्तमान में वे ही दिव्यांग बच्चे/भाई-बहन परिवार पेंशन के लिए पात्र हो सकते हैं, अगर जिनकी परिवार पेंशन के अलावा अन्य स्रोतों से दिव्यांग बच्चे/भाई-बहन की कुल मासिक आय 9,000/- रुपये के साथ-साथ उस पर महंगाई राहत से अधिक नहीं है।

इससे पहले बैंक कर्मचारियों के परिवारों को दी थी राहत
इस पारिवारिक पेंशन के पहले सरकार ने बैंक कर्मचारियों को भी खुश करने की कोशिश की है। जिसके तहत उन्होंने बैंक कर्मचारियों के परिवारों को राहत देने के लिए इंडियन बैंकिंग एसोसिएशन के परिवार पेंशन को अंतिम आहरित वेतन के 30% तक बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। सरकार के इस कदम से बैंक कर्मचारियों की प्रति परिवार पारिवारिक पेंशन 30,000 रुपये से 35,000 रुपये तक हो गई है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password