Eye Flicking Reasion : क्या है आंखों के फड़कने का वैज्ञानिक और धार्मिक कारण, जानें कौन सी आंख फड़कना होता है शुभ

Eye Flicking Reasion : क्या है आंखों के फड़कने का वैज्ञानिक और धार्मिक कारण, जानें कौन सी आंख फड़कना होता है शुभ

नई दिल्ली । जैसे ही आंख फड़कती है Eye Flicking हमारे मन में डर शुरू हो lifestyle news जाता है। कहीं ऐसा तो aankhon ka fadakna नहीं होगा कहीं वैसा तो नहीं होगा। अकसर लोगों kyon fadakti hai aankh को कहते सुना है कि मेरी आंख फड़क रही है। जो हम शगुन या अपशगुन से जोड़कर देखने लगते हैं। इसे हम किसी शुभ—अशुभ घटना से जोड़कर भी देखने लगते हैं। पर इसके पीछे धार्मिक और विज्ञान दोनों कारणों को हम आज जानने की कोशिश करेंगे। सामुद्रिक शास्त्र और मेडिकल में इसके अलग—अलग कारण होते हैं। आइए हम आपको बताते हैं कि क्या हो सकते हैं वे कारण।

क्या कहता है सामुद्रिक शास्त्र
सामुद्रिक शास्त्र जिसमें मुखमण्डल Eye Flicking तथा सम्पूर्ण शरीर के अध्ययन की विद्या की जाती है। इसके अनुसार महिला और पुरुष दोनों में अलग-अलग आंख के फड़कने का अर्थ भी अलग होता है। महिलाओं की बायी आंख और पुरुषों की दायी आई फड़कना शुभ मानते है। इसके विपरीत स्थिति में फड़कना अशुभ होता है।

सीधी आंख का फड़कना
सामुद्रिक शास्त्र के मुताबिक पुरुष की सीधी आंख फड़कना शुभ होता है।ऐसा होना उनकी सारी इच्छाएं पूरी करा सकता है। यह संकेत उनकी पदोन्नति व धन लाभ के हो सकते हैं। इसके विपरीत यहीं आंख महिला की फड़कना अशुभ संकेत है। ऐसा मानते हैं इससे उस महिला के काम बिगड़ सकते हैं।

उल्टी आंख का फड़कना
महिलाओं में उनकी बांयी आंख का फड़कना शुभ संकेत देता है। ऐसा माना जाता है कि लेफ्ट आई फड़कने से महिलाओं को सोने-चांदी के गहने मिल सकते हैं। वहीं अगर पुरुषों की लेफ्ट आई फड़कती है तो उन्हें नुकसान होने की आशंका हो सकती है। शत्रु से परेशानी हो सकती है।

आइए जानते हैं मेडिकल में इसका क्या कारण हो सकते हैं।
शास्त्रों से हटकर बात की जाए तो आंख का फड़कना सेहत से जुड़ा संकेत भी माना जा सकता है। ये भी हो सकते हैं आंख फड़फड़ाने के कारण…

हो सकती है मांसपेशियों की समस्या
चिकित्सकों की मानें तो आंखों की मांस पेशियों में समस्या होने से भी आंख फड़क सकती है। यदि आप टेंशन में हैं और ठीक से नींद नहीं ले पा रहे हैं तो तनाव होने के कारण भी ऐसा हो सकता है। बहुत ज्यादा थकान या कम्यूटर, लैपटॉप पर अधिक देर तक समय बिताने से भी आंखों का फड़कना शुरू हो जाता है। इसके अलावा आंखों में सूखापन, एलर्जी, पानी आना, खुजली समस्या से भी ऐसा होता है। यदि आपके शरीर में मैग्नीशियम की कमी हो गई है तो इससे भी आंख फड़कने की समस्या पैदा सकती है। मादक पदार्थों का अधिक उपयोग भी इसका कारण हो सकता है।

सीधी आंख का फड़कना —
सामुद्रिक शास्त्र के मुताबिक अगर किसी पुरुष की दाईं आंख फड़कती है तो ये उसके लिए शुभ होती है। ऐसा माना जाता है कि उनकी सारी इच्छाएं पूरी होती हैं। साथ ही ऐसा होने पर उनकी पदोन्नति व धन लाभ के भी योग बनते हैं। लेकिन इसके विपरीत यदि किसी महिला की दाईं आंख फड़कती है तो ये उसके लिए ये अशुभ संकेत होता है। माना जाता है कि उस महिला के काम बिगड़ने वाले हैं।

दाईं आंख का फड़कना —
बाईं आंख का फड़कना महिलाओं के लिए शुभ माना जाता है। ये इशारा महिलाओं को सोने-चांदी गहने मिलने के संकेत देता हैं। लेकिन अगर पुरुषों की बाईं आंख फड़के तो उन्हें नुकसान होने की संभावना होती हैं। हो सकता है कोई विरोधी हानि पहुंचाए।

ये भी हो सकते हैं कारण —

आंखों की समस्या
जब आंखों में मांस पेशियों से संबंधित समस्या होती है तो उस कंडीशन में आंख फड़क सकती है। अगर लंबे समय से आपकी आंख फड़क रही है, तो एक बार आंखों की जांच जरूर करवा लें।

तनाव
तनाव के कारण जब आपकी नींद पूरी नहीं होती तो उस कंडीशन में भी आंख फड़कने लगती है।

थकान
ज्यादा समय तक कम्यूटर, लैपटॉप देखते रहने पर आंखों पर जोर पड़ता है। ऐसा होने पर ज्यादा थकान होने पर आंखों में ये समस्याएं पैदा हो जाती हैं। इसके लिए आंखों को आराम देना जरूरी है।

सूखापन
अगर आंख में सूखापन है तो भी आंख फड़कने की समस्या पैदा हो जाती है। इसके अलावा आंखों में एलर्जी, पानी आना, खुजली आदि समस्या होने पर भी ऐसा हो सकता है।

पोषण 
आपको बता दें शरीर में मैग्नीशियम की कमी के चलते आंख फड़कने की समस्या पैदा हो सकती है। इतना ही नहीं अगर आप ज्यादा कैफीन या शराब का सेवन करते हैं तो भी ये समस्या को जन्म देता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password