Ujjain Holi: कोरोना भी नहीं डाल पाया होली के रंग में भंग, लोगों ने उज्जैन में पीपीई किट पहनकर उड़ाई गुलाल, देखें फोटो...



Ujjain Holi: कोरोना भी नहीं डाल पाया होली के रंग में भंग, लोगों ने उज्जैन में पीपीई किट पहनकर उड़ाई गुलाल, देखें नजारे…

उज्जैन। प्रदेश में कोरोना के चलते होली के त्योहार का रंग फीका रहा। पूरे देश में कोरोना के रोकथाम नियमों के साथ होली मनाई गई। वहीं उज्जैन में लोगों ने पीपीई किट पहनकर होली का उत्सव मनाया। यहां सड़कों पर लोग पीपीई किट पहनकर लोगों को गुलाल लगाते नजर आए। कोरोना के कारण होली के उत्सव पर प्रशासन ने सख्ती कर रखी है। प्रदेश सहित पूरे देश में आज रंगों के साथ होली खेली गई। वहीं उज्जैन में बाबा महाकाल ने भी पुजारियों के साथ जमकर होली खेली। हालांकि कोरोना की सख्ती के चलते यहां भक्तों को मंदिर में जाने की अनुमति नहीं दी गई थी। परंपरा के अनुसार होली के त्योहार की शुरुआत सबसे पहले बाबा महाकाल मंदिर प्रांगण से हुई।

बाबा के दर पर धूमधाम से होली मनाई गई। बाबा ने मंदर के पंडे पुजारियों के साथ जमकर रंग उड़ाया। यहां सभी ने बाबा की भक्ति में लीन होकर अबीर गुलाल और फूलों के साथ जमकर होली खेली। रंगों के इस त्योहार पर मंदिर प्रांगण में ऐसा रंग-गुलाल उड़ा कि बाबा रंगों से सराबोर हो गए। बता दें कि उज्जैन में सभी त्योहारों की शुरुआत महाकाल के दरबार से होती है। वहीं इस बार भी परंपरा अनुसार भस्मारती में बाबा को रंग गुलाल लगाया गया। हालांकि इस बार कोरोना के कारण भक्तों को बाबा के साथ होली खेलने का मौका नहीं मिला। हर साल यहां हजारों की संख्या में देशभर से भक्त बाबा के साथ होली खेलने के लिए जमा होते थे। इस बार बाबा ने भी बिना भक्तों के ही होली मनाई।


उज्जैन में कोरोना के कारण सख्ती…
बता दें कि उज्जैन में कोरोना संक्रमण के कारण काफी सख्ती करना पड़ा है। यहां बीते दिनों से लगातार कोरोना संक्रमितों की संख्या में विस्फोट देखने को मिल रहा है। पिछले दिनों यहां एक दिन में 90 मरीज तक सामने आए हैं। इसी को देखते हुए जिले के कलेक्टर ने यहां कोरोना को लेकर सख्ती कर दी थी। यहां मंदिर में होली के मौके पर भक्तों को दर्शन करने का मौका नहीं मिला। कलेक्टर ने कहा था कि यहां बीते दिनों एक मेडिकल प्रोफेशनल की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो गई थी। इतना ही नहीं स्वास्थ्य कर्मचारी को कोरोना की दोनों वैक्सीन भी लग चुकी थी। इसके बाद भी उसकी मौत हो गई। इसी को देखते हुए प्रशासन ने यहां सख्ती दिखाई थी।

Share This

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password