वैक्सीन को मंजूरी से बाजार में उत्साह, सेंसेक्स पहली बार 48,000 अंक के पार

मुंबई, चार जनवरी (भाषा) भारत ने कोरोना वायरस के दो टीकों को मंजूरी दे दी है। इससे शेयर बाजारों में सोमवार को लगातार नौवें कारोबारी सत्र में तेजी का सिलसिला जारी रहा और सेंसेक्स पहली बार 48,000 अंक के स्तर के पार बंद हुआ।

रुपये में मजबूती, सकारात्मक वैश्विक संकेतकों और उत्साहवर्द्धक वृहद आर्थिक आंकड़ों से भी बाजार धारणा मजबूत हुई।

बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 307.82 अंक या 0.64 प्रतिशत की बढ़त के साथ 48,176.80 अंक पर पहुंच गया। यह इसका नया रिकॉर्ड है। दिन में कारोबार के दौरान सेंसेक्स 48,220.47 अंक के अपने सर्वकालिक उच्चस्तर तक गया।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 114.40 अंक या 0.82 प्रतिशत की बढ़त के साथ 14,132.90 अंक के अपने रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ। दिन में कारोबार के दौरान इसने 14,147.95 अंक का अपना सर्वकालिक उच्चस्तर भी छुआ।

सेंसेक्स की कंपनियों में ओएनजीसी का शेयर सबसे अधिक 4.02 प्रतिशत चढ़ गया। टीसीएस, एचसीएल टेक, टेक महिंद्रा, इन्फोसिस, महिंद्रा एंड महिंद्रा, हिंदुस्तान यूनिलीवर, सनफार्मा और एलएंडटी के शेयर भी लाभ में रहे।

वहीं दूसरी ओर कोटक बैंक, बजाज फाइनेंस, एशियन पेंट्स, एचडीएफसी बैंक, पावरग्रिड और टाइटन के शेयर 1.43 प्रतिशत तक नीचे आए।

विशेषज्ञों ने कहा कि कोविड-19 के दो टीकों मंजूरी मिल गई है। टीकाकरण की प्रक्रिया जल्द शुरू होने की उम्मीद है। इससे बाजार की धारणा मजबूत हुई।

भारतीय औषधि नियामक ने रविवार को ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोविड-19 वैक्सीन कोविशील्ड और देश में विकसित भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के आपात इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है।

एलकेपी सिक्योटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन ने कहा, ‘‘इस माह वैक्सीन के आने की उम्मीद के बीच आईटी, धातु और फार्मा कंपनियों के शेयरों की वजह से बाजार में तेजी आई। पीएमआई आंकड़ों तथा कुछ चुनिंदा वित्तीय शेयरों में लिवाली से भी बाजार को समर्थन मिला।’’

दिसंबर में निक्की इंडिया का विनिर्माण खरीद प्रबंधक सूचकांक (पीएमआई) बढ़कर 56.4 पर पहुंच गया है। इससे भी बाजार की स्थिति और मजबूत हुई। नवंबर में यह 56.3 पर था।

बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप 1.42 प्रतिशत तक चढ़ गए।

अन्य एशियाई बाजारों में चीन के शंघाई कम्पोजिट, दक्षिण कोरिया के कॉस्पी और हांगकांग के हैंगसेंग में लाभ दर्ज हुआ, जबकि जापान के निक्की में गिरावट आई। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार लाभ में थे।

इस बीच, वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल वायदा 1.31 प्रतिशत बढ़कर 52.48 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनियम बाजार में रुपया नौ पैसे की बढ़त के साथ 73.02 प्रति डॉलर पर पहुंच गया।

शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शुक्रवार को शुद्ध रूप से 506.21 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे।

भाषा अजय अजय रमण

रमण

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password