Eating Spicy Food : मिर्च लगने पर गटागट पानी पीने वाले जान लें, पानी पीने से कम नहीं ज्यादा लगती है मिर्ची

Eating Spicy Food : मिर्च लगने पर गटागट पानी पीने वाले जान लें, पानी पीने से कम नहीं ज्यादा लगती है मिर्ची

eating spicy food

नई दिल्ली। जिन लोगों को स्टाइसी फूड Eating Spicy Food  पसंद है। वे लोग मिर्च की जलन सहन कर जाते हैं। पर जिन्हें तीखा पसंद नहीं समस्या तो उनके साथ खड़ी होती है। मिर्च लगने पर हाथ स्वत: ही गिलास की तरफ बढ़ता है। ऐसे में गटगट पानी पीने लगते हैं। पर आपने अक्सर देखा होगा कि इससे भी तीखा लगना कम नहीं होता। बल्कि जलन और अधिक बढ़ती ही जाती है। आइए जानते हैं ऐसा क्यों होता है।

क्यों लगता है तीखा?
मिर्च में आखिर ऐसा क्या होता है कि इसके लगते ही हालत खराब Eating Spicy Food  हो जाती है। मुंह जलने लगता है। अमेरिकन कैमिकल सोसाइटी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक मिर्च में एक Capsaicin नाम का कैमिकल होता है। ये Capsaicin ही सारी समस्या की जड़ है। जब ये कैमिकल इंसान के टीश्यू के संपर्क में आता है तो इसकी प्रतिक्रिया स्वरूप बर्निंग सेंसेशन शुरू होते ही जलन शुरू हो जाती है हमारी जीभ में TRPV1 पेन रेसेप्टर होता है। ये जब Capsaicin से संपर्क करता है तो तुरंत इसकी इंर्फोमेशन हमारे दिमाग को देकर कुछ ऐसा खाने को सूचित करता है जो हमें नहीं खाना चाहिए था। इस फलस्वरूप पेन रेसेप्टर पर असर पड़ता है। जैसे ही ये प्रक्रिया शुरू होती है आपकी आंख और नाक से पानी निकलना प्रारंभ हो जाता है। किसी —किसी को तो शरीर से भी पसीना आने लगता है।

इसलिए नहीं पीना चाहिए पानी
जानकारों के अनुसार Capsaicin के अंदर नॉन पोलर मॉलिक्यूल्स होते हैं, जिन्हें केवल नॉन पोल मॉलिक्यूल्स उपस्थित वाले पदार्थों से ही समाप्त किया जा सकता है। जबकि इसके विपरीत पानी में पोल मॉलिक्यूल्स होते हैं। यही कारण है कि मिर्च पर इसका कोई असर नहीं होता। यहां तक की वर्फ का उपयोग करने पर भी इसे खत्म नहीं किया जा सकता।

पानी फैला देता है बर्निंग सेंसेशन
पानी मिर्च के तीखेपन को खत्म तो नहीं करता बल्कि इसके विपरीत इसके द्वारा Capsaicin को मुंह में चारों तरफ फैला देने के कारण हमें और अधिक तीखापन महसूस होने लगता है। यह कैमिकल को फैला कर और अधिक बर्निंग सेंसेशन पैदा करते ज्यादा खतरनाक हो जाता है। इसलिए तीखा लगने पर हमेशा पानी पीने से बचना चाहिए।

मिर्च लगे तो क्या करें
मिर्च लगने पर पानी पीने की अपेक्षा आपको डेयरी प्रोडक्ट्स का उपयोग करना चाहिए। ऐसी स्थिति में दूध को सबसे अ​धिक असरकारी माना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि दूध में नॉन पोलर मॉलिक्यूल्स होते हैं। जो Capsaicin को कम करने में हेल्प करते हैं। इसके पीते ही आपको तीखेपन से आराम लगने लगता है। इसके अतिरिक्त अगर आप पानी के अलावा कुछ खाने के बाद पानी सकते हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password