ई-मानव संसाधन प्रबंधन प्रणाली सभी मंत्रालयों के लिए प्रभावी औजार बनेगी : गृह सचिव

नयी दिल्ली, 25 दिसंबर (भाषा) केंद्रीय गृह सचिव ए के भल्ला ने शुक्रवार को कहा कि इलेक्ट्रॉनिक-मानव संसाधन प्रबंधन प्रणाली (ई-एचआरएम) सभी मंत्रालयों के लिए आने वाले समय में अच्छा और प्रभावी औजार बनेगी।

प्रणाली से संबंधित प्रगति रिपोर्ट जारी करते हुए उन्होंने कहा कि कृत्रिम बुद्धि उपकरणों का अनुप्रयोग नीति निर्माण और कर्मियों से संबंधित मामलों से निपटने में काफी मदद करेगा।

भल्ला को कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग के सचिव का अतिरिक्त प्रभार भी दिया गया है।

कार्मिक मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार भल्ला ने कहा कि प्रणाली के समग्र इस्तेमाल के लिए अन्य मंत्रालयों में इसे लोकप्रिय बनाने की आवश्यता है।

बयान में कहा गया कि केंद्रीय कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने 25 दिसंबर 2017 को ई-एचआरएम की शुरुआत की थी। इसमें पांच मॉड्यूल में 25 अनुप्रयोग थे।

कार्मिक एवं प्रशिक्षण मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव रश्मि चौधरी ने कहा कि ई-एचआरएम के माध्यम से सरकारी कर्मचारी अपनी सेवा संबंधी सूचना तक पहुंच बना रहे हैं और इसने भारत सरकार में मानव संसाधन प्रक्रियाओं को डिजिटल बनाया है। इससे कर्मचारियों को कई लाभ हो रहे हैं और क्षमता में वृद्धि हो रही है।

बयान में कहा गया कि ई-एचआरएम के आधुनिक संस्करण से कर्मचारी न सिर्फ सेवा पुस्तिका, छुट्टी, जीपीएफ, वेतन इत्यादि संबंधी विवरण देख पाएंगे, बल्कि विभिन्न प्रकार के दावों/प्रतिपूर्ति, ऋण/अग्रिम भुगतान, छुट्टी, एलटीसी इत्यादि के लिए भी एक ही मंच पर आवेदन करने में सक्षम होंगे।

भल्ला के साथ ही कार्मिक मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी शुक्रवार को प्रणाली से संबंधित प्रगति रिपोर्ट जारी करने के कार्यक्रम में शामिल हुए।

पच्चीस दिसंबर के दिन को सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाता है।

भाषा नेत्रपाल मनीषा

मनीषा

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password