Kill Corona: किल कोरोना अभियान की आड़ में ईसाई धर्म का प्रचार कर रही थी डॉक्टर, पर्चे बांटे और…

रतलाम। प्रदेश में कोरोना महामारी से जूझने के लिए सरकार हर संभव प्रयास करने में जुटी है। अब कोरोना केवल शहरों तक ही सीमित नहीं है बल्कि गांवों को भी अपनी चपेट में ले चुका है। इसी को देखते हुए सरकार ने प्रदेश में किल कोरोना अभियान शुरू किया है। इस अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में घर-घर जाकर कोरोना की जांच कर रोकथाम के उपाय बता रही है। वहीं किल कोरोना अभियान की आड़ में ईशाई मिशनरीज एक्टिव हो गए हैं।

ये मिशनरीज किल कोरोना अभियान की आड़ में धर्म का प्रचार करने में जुटे हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया है। प्रदेश के रतलाम जिले में आने वाले आदिवासी अंचल में एक शासकीय डॉक्टर को ईशाई धर्म का प्रचार करते देखा गया है। रतलाम के आदिवासी ग्रामीण अंचल बाजना में डॉक्टर संध्या तिवारी पिछले कई दिनों से लोगों को ईसाई धर्म के पर्चे बांट रही थी। यहां के रहवासियों से मिली जानकारी के अनुसार डॉक्टर संध्या तिवारी पिछले कई दिनों से इस क्षेत्र में ईसाई मिशनरीज का एजेंडा चला रही हैं।

लोगों को बांटे पर्चे…
डॉक्टर संध्या ने अपने सर्वे के दौरान लोगों को ईसाई धर्म के प्रचार के पर्चे बांटे हैं। साथ ही उन्होंने लोगों से कहा कि अगर आप कोरोना पॉजिटिव हो जाते हो तो ईसामसीह की प्रार्थना करो ठीक हो जाओगे। इस मामले की जानकारी जब हिंदू संगठनों को मिली तो मौके पर पहुंचे। मौके पर पहुंचकर मामले की जानकारी ली गई तो डॉक्टर के पास से ईसाई धर्म के प्रचार वाले पर्चे मिले हैं। इन पर्चों पर ईसाई मिशनरीज के कार्यक्रमों की जानकारी लिखी है।

इसके बाद हिंदुवादी संगठनों ने मामले की शिकायत तहसीलदार और पुलिस में की है। पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि इस तरह की शिकायत मिली है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। बता दें कि प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान ने किल कोरोना अभियान शुरू किया है। इस अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग की टीम ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर जाकर कोरोना की जांच कर रही है। इसके साथ ही लोगों को कोरोना के प्रति जागरुक कर रही है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password