Divya Bharti Birth Anniversary: खुली हवा में सांस लेना चाहती थी दिव्या भारती, लेकिन होनी को कौन जानता था

divaya bharti

नई दिल्ली। 25 फरवरी 1974, स्थान बंबई जिसे अब मुंबई कहा जाता है। यहां एक बीमा अधिकारी ओम प्रकाश भारती के घर में एक लड़की जन्म लेती है। परिवारवाले उसका नाम रखते हैं दिव्या भारती (Divya Bharti)। वह बचपन से ही दूसरी लड़कियों से काफी अलग थी और बला की खूबसूरत भी। यही कारण है कि दिव्या भारती ने महज 16 साल की उम्र से ही सिनेमा जगत में काम करना शुरू कर दिया। हालांकि उनका करियर बहुत लंबा नहीं रहा। लेकिन जितना भी रहा कमाल का रहा।

एक साल के अंदर बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेस बन गई थी

फिल्मी दुनिया में एंट्री करते ही दिव्या ने बैक टू बैक फिल्में दी। साल 1990 में तेलुगू फिल्म बॉबली राजा से उन्होंने अपने फिल्मी करियर की शुरूआत की थी। इसके बाद उन्होंने एक साल के अंदर पांच तमिल और तेलुगू फिल्मों में काम किया। साल 1992 में उन्होंने फिल्म विश्वात्मा (Vishwatma) से बॉलीवुड में एंट्री की। इस फिल्म के बाद दिव्या ने काफी छोटी सी उम्र में ही बड़ा मुकाम हासिल कर लिया था। एक साल के अंदर उन्होंने बॉलीवुड में कई हिट फिल्में दी। महज 19 साल की उम्र में ही वो हिंदी सिनेमा जगत की टॉप एक्ट्रेस बन गई।

आज भी उनकी मौत एक अनसुलझी पहेली है

लेकिन शायद भगवान को ये मंजुर नहीं था कि वो इतनी तेजी से आगे बढ़े। दिव्या ने साल 1993 में दुनिया से नाता तोड़ लिया और आज भी उनकी मौत एक अनसुलझी पहेली है। बॉलीवुड से अचानक हुई एग्जिट ने उनके चाहने वालों को झंकझोर कर रख दिया था। कम लोग जानते हैं कि दिव्या भारती हिंदी और अंग्रेजी के अलावा मराठी में भी महारथी थीं। इसके अलावा उन्होंने तेलुगू और तमिल फिल्मों में भी काम किया था।

शादी करने के लिए बालिग होने तक किया इंतजार

दिव्या जब गोविंदा (Govinda) के साथ फिल्म ‘शोला और शबनम’ (Shola Aur Shabnam) की शूटिंग कर रही थी तब गोविंदा ने उनकी मुलाकात साजिद नाडियाडवाला (Sajid Nadiadwala) से कराई थी। इस मुलाकात के बाद दिव्या भारती, साजिद से प्यार करने लगी। हालांकि तब वह नाबालिग थी। इस कारण से दोनों शादी नहीं कर सकते थे। लेकिन जैसे ही दिव्या बालिग हुई उन दोनों ने साल 1992 में शादी कर ली। साजिद से शादी करने के लिए दिव्या ने इस्लाम भी कबूल किया था। इस्लाम कबूल करने के बाद उन्होंने अपना नाम सना रखा।

वह अपने पुराने घर से खुश नहीं थी

शादी करने के बाद दिव्या साजिद के साथ मुंबई के वर्सोवा इलाके में स्थित तुलसी अपार्टमेंट में पांचवी मंजिल पर रहने लगी। वो अपने शादी से बेहद खुश थी। लेकिन उन्हें तुलसी अपार्टमेंट का वो घर कुछ ज्यादा पसंद नहीं था। इस कारण से वो दूसरा घर खरीदना चाहती थी। लंबे समय तक ठूंठने के बाद उन्होंने 4 अपैल यानी अपने मौत के दिन ही एक फ्लैट की डील फाइनल की थी। उस दिन वो काफी खुश थी। घर पहुंचने पर उन्होंने अपने कुछ करीबियों के साथ एक छोटी सी पार्टी की।

अक्सर बैठा करती थीं

दरअसल, जब वो नए फ्लैट का डील करके तुलसी अपार्टमेंट पहुंची तो उनसे मिलने फैशन डिजाइनर नीता लुल्ला पहुंची। वो दिव्या से अगली फिल्म के ड्रेस के सिलसिले में मिलने आईं थी। इसी दौरान तीनों में मिलकर कुछ डिंक्स लिए। रात 11 बजें पार्टी खत्म होने के बाद नीता अपने घर चली गईं और दिव्या अपने लिविंग रूम में। यहां एक खुली खिड़की थी। जहां अक्सर दिव्या खुली हवा में सांस लेने के लिए पैर बाहर करके बैठा करती थीं। लेकिन पुलिस के मुताबिक उस दिन जैसे ही दिव्या खिड़की पर बैठी उनका हाथ फिसल गया और वो निचे गिर गईं। लोगों ने उन्हें आनन-फानन में अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

Image source- @Love_Sushant21

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password