Dhanwantri Medical Store Scheme: भारी-भरकम दवाओं के खर्च से राहत के लिए सरकार ने खोले मेडिकल स्टोर्स

Dhanwantri Medical Store Scheme: भारी-भरकम दवाओं के खर्च से राहत के लिए सरकार ने खोले मेडिकल स्टोर्स

Dhanwantri Medical Store Scheme

RAIPUR: छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल सरकार ने बिजली, स्वास्थ्य और शिक्षा को सस्ता कर महंगाई से मुक्ति देने का रास्ता निकाल लिया है।छत्तीसगढ़ सरकार इन तीनों सेक्टरों में अपनी योजनाओं से जनता को राहत दे रही है। भूपेश सरकार ने स्वास्थ्य को प्राथमिकता देते हुए श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर योजना Dhanwantri Medical Store Scheme की शुरुआत की है।योजना का मकसद यही है कि इलाज पर भारी-भरकम दवाओं के होने वाले खर्च को कम कर लोगों को राहत दी जाए।हर जिले में जेनेरिक मेडिकल स्टोर खोले गए हैं।

श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर पर कम कीमत पर सभी वर्गों को आसानी से सस्ती दवा मिल रही है।जिससे खर्चे में कमी आ रही है।श्री धन्वन्तरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर योजना के तहत पहले चरण में प्रदेशभर में 59 दुकानों की शुरुआत की गई थी जो अब बढ़कर 159 हो गई है।श्री धनवंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर्स से उपभोक्ताओं को सस्ते दर पर दवाइयां उपलब्ध है।बाज़ार की दूसरी दवाओं से तुलना करें तो उपभोक्ताओं को दवाइयों की एमआरपी पर न्यूनतम 50 प्रतिशत और अधिकतम 71 प्रतिशत तक का डिस्काउंट मिल रहा है। योजना के तहत 169 शहरों में 190 मेडिकल स्टोर्स प्रारंभ करने की योजना है। इन मेडिकल स्टोर्स में 251 प्रकार की जेनेरिक दवाइयां और 27 सर्जिकल उत्पाद की बिक्री अनिवार्य की गई है।Dhanwantri Medical Store Scheme

योजना के अगले चरण में इन दुकानों से दवाओं की होम डिलीवरी की जाएगी।इसके साथ ही इन दवा दुकानों में आयुर्वेदिक और वन उपज से संबंधित प्रोडक्ट भी बेचे जा रहे हैं। जिससे दवाओं के साथ वन उपज की भी बिक्री इन दुकानों के जरिए हो पा रही है। इसके अलावा वन विभाग की संजीवनी के उत्पाद, सौंदर्य के साधन और शिशु आहार आदि का भी विक्रय किया जा रहा है।।।

सरकार ने जेनेरिक दवाओं को बढ़ावा देने के लिए सरकारी डॉक्टरों को निर्देश भी दिए हैं।।।साथ ही ब्रांडेड दवाए लिखने पर कार्रवाई की चेतावनी भी दी है।वहीं जनता में इस तरह की जेनरेक दवा दुकानों को लेकर खासा उत्साह है। लोगों को इस बात की खुशी है कि श्री धन्वंतरी जेनेरिक दवा दुकानों में सस्ती दरों पर दवा मिल रही हैं और ये दवाएं कारगर भी हैं।

प्रदेश में इस योजना के तहत 159 मेडिकल स्टोर संचालित हैं। इन मेडिकल स्टोर्स के जरिए अब तक बेची गई दवाओं से करीब 17 लाख 92 हजार नागरिकों को 17 करोड़ 38 लाख रूपए की बचत हुई है।और इससे इस योजना मकसद पूरा होता हुआ भी दिखाई दे रहा है।अब सरकारी डॉक्टरों के साथ प्राइवेट डॉक्टर भी जेनेरिक दवाएं लिख कर अपना सामाजिक दायित्व पूरा कर रहे हैं।यानि कह सकते हैं कि सीएम भूपेश बघेल और उनकी सरकार की सोच का ही नतीजा है कि प्रदेश की जनता को सस्ते इलाज की सौगात मिली है।और इस सौगात को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता।।कहते हैं कि स्वास्थ्य ही इंसान की सबसे बड़ी पूंजी है।Dhanwantri Medical Store Scheme

 

 

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password