DGCA: एयर इंडिया पर लगा 1.10 करोड़ का जुर्माना, बिना इमरजेंसी

DGCA: एयर इंडिया पर लगा 1.10 करोड़ का जुर्माना, बिना इमरजेंसी ऑक्सीजन के भरी थी उड़ान

DGCA
Share This

दिल्ली।DGCA:  नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने कुछ लंबे मार्गों पर संचालित उड़ानों के संबंध में सुरक्षा मानकों के उल्लंघन के लिए एयरलाइन एयर इंडिया पर 1.10 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। नियामक ने एक हफ्ते में दूसरी बार एयर इंडिया पर जुर्माना लगाया है। एयरलाइन कंपनी ने कहा है कि वह नियामक के इस फैसले के खिलाफ अपील करेगी।

एयरलाइन रिटार्यड कर्मचारी ने की थी शिकायत

बुधवार को जारी बयान के अनुसार, नियामक को एयरलाइन एक पूर्व कर्मचारी से शिकायत मिली थी कि एयरलाइन ने आपातकालीन ऑक्सीजन आपूर्ति की अनिवार्य व्यवस्था के बिना अमेरिका के लिए बोइंग 777 विमान का परिचालन किया।

नियामक ने रिपोर्ट प्राप्त करने के बाद विस्तृत जांच की। इसमें कुछ लंबी दूरी के महत्वपूर्ण मार्गों पर एयर इंडिया द्वारा संचालित उड़ानों में सुरक्षा उल्लंघन का आरोप लगाया गया था।

डीजीसीए की जांच में मिली लापरवाही

डीजीसीए ने कहा कि जांच में प्रथम दृष्टया एयरलाइन द्वारा गैर-अनुपालन का पता चलता है। इसके बाद एयर इंडिया को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। बयान में कहा गया, “डीजीसीए ने कार्रवाई करने से पहले भेजे गए कारण बताओ नोटिस पर एयरलाइन की प्रतिक्रिया का विश्लेषण किया।”सुरक्षा रिपोर्ट एयर इंडिया द्वारा संचालित पट्टे पर दिए गए बोइंग 777 विमानों से संबंधित है।

1.10 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया

डीजीसीए ने बयान में कहा, “चूंकि पट्टे पर लिए गए विमानों का परिचालन नियामक/ओईएम प्रदर्शन सीमाओं के अनुरूप नहीं था, इसलिए डीजीसीए ने प्रवर्तन कार्रवाई करते हुए एयर इंडिया पर 1.10 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।”

एयर इंडिया के एक प्रवक्ता ने कहा कि हम डीजीसीए के आदेश से सहमत नहीं हैं। उन्होंने कहा, ‘‘जो मुद्दा उठाया गया है उसकी एयर इंडिया ने बाहरी विशेषज्ञों के साथ समीक्षा की है।

एयर इंडिया ने कहा- हम फैसले के खिलाफ अपील करेंगे

सुरक्षा के साथ किसी तरह का समझौता नहीं किया गया है। हम इस आदेश की विस्तार से अध्ययन कर रहे हैं। हमारे पास इसके खिलाफ अपील करने का अधिकार है। साथ ही हम नियामक के साथ यह मुद्दा उठा सकते हैं।’’

बी 777 कमांडर के रूप में काम करने वाले चालक ने 29 अक्टूबर, 2023 को आपातकालीन ऑक्सीजन आपूर्ति की आवश्यक प्रणाली नहीं ले जाने के लिए एयरलाइन के बारे में शिकायत की।

मिली थी ये गड़बड़ी

उस समय सूत्रों ने कहा था कि शिकायत यह थी कि एयर इंडिया पट्टे पर लिए गए बी777 विमानों के साथ उड़ानें संचालित कर रही है, जिसमें रासायनिक रूप से उत्पन्न ऑक्सीजन प्रणाली होती है जो लगभग 12 मिनट तक चलती है, और इसलिए इसका उपयोग एयरलाइन की सैन फ्रांसिस्को से आने-जाने वाली सीधी उड़ानों के लिए नहीं किया जाना चाहिए।

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password