अगोडा जेल को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने का काम मार्च तक पूरा हो जाएगा: सावंत

पणजी, छह जनवरी (भाषा) गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा कि पर्यटन स्थल के रूप में अगोडा जेल की मरम्मत का कार्य इस साल मार्च तक पूरा हो जाएगा, जिसके बाद इसे पर्यटकों के लिए खोला जाएगा। यह एक ऐतिहासिक जेल है, जिसमें अब कैदियों को नहीं रखा जाता है।

मंगलवार को उन्होंनें संवाददाताओं को बताया कि इस परियोजना से संबंधित 90 फीसदी कार्य पूरे हो चुके हैं। मुख्यमंत्री 17वीं शताब्दी की इस इमारत के मरम्मत कार्य को लेकर हुई समीक्षा बैठक के बाद संवाददाताओं से बात कर रहे थे।

उन्होंने कहा, ‘‘ हम इस साल मार्च तक इस परियोजना के कार्य को पूरा कर लेंगे जिसके बाद यह पर्यटकों के आकर्षण का महत्वपूर्ण स्थल बनकर तैयार हो जाएगा।’’

उन्होंने बताया कि पुर्तगाली शासन के समय का यह ढांचा ऐतिहासिक अगोडा फोर्ट (किला) का हिस्सा है, जो कि नॉर्थ गोवा जिले में मांड्वी नदी के निकट सिकेरिम गांव में स्थित है। इस जेल में एक संग्रहालय होगा, जिसमें राज्य के मुक्ति संग्राम से जुड़ी चीजें पर्यटक देख सकेंगे।

सावंत ने बताया कि दो विशेष कोठियों को स्वतंत्रता सेनानी टी बी चुन्हा और राम मनोहर लोहिया को समर्पित किया जाएगा। पुर्तगाली शासन के दौरान दोनों को यहीं कैद करके रखा गया था। इसके अलावा यहां पर्यटकों के आकर्षण से जुड़ी कई चीजें होंगी।

गोवा पर्यटन विकास निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पर्यटन स्थल के रूप में मशहूर किले की मरम्मत 22 करोड़ रुपये की लागत से ‘स्वेदश दर्शन स्कीम’ के तहत की जा रही है। किले की जेल का इस्तेमाल 2015 तक किया जा रहा था लेकिन बाद में जेल के रूप में इसे खाली कर दिया गया और मरम्मत के लिए गोवा पर्यटन विकास निगम को सौंप दिया गया। भाषा

स्नेहा नरेश

नरेश

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password