Delhi Crime : दिल्ली में मुठभेड़ के बाद काला जठेड़ी गिरोह के दो शार्पशूटर गिरफ्तार

नई दिल्ली।  दिल्ली में काला जठेड़ी गिरोह के दो शार्पशूटरों को मंगलवार को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अधिकारियों ने गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया और दिल्ली पुलिस के एक कांस्टेबल की हत्या के षड़यंत्र का भंडाफोड़ करने का दावा भी किया। पुलिस ने कहा कि गिरफ्तार आरोपियों परविंदर (31) और टोनी (22) ने ताजपुरिया को यहां एक अदालत में पेश किये जाने के दौरान जान से मारने की योजना बनाई थी। पिछले साल 24 सितंबर को दो लोगों ने जेल की सजा काट रहे गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की यहां रोहिणी की अदालत में वकीलों के वेश में गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने बताया कि मंगलवार को उत्तरी दिल्ली में हुई मुठभेड़ के दौरान 22 राउंड गोलीबारी हुई।पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि गुप्त सूचना मिली थी कि काला जठेड़ी गिरोह का सक्रिय सदस्य परविंदर अपने सहयोगी के साथ मंगलवार को अलीपुर इलाके में अन्य लोगों से मिलने आएगा क्योंकि वे दिल्ली पुलिस के एक कांस्टेबल और प्रतिद्वंद्वी गैंगस्टर सुनील मान उर्फ ​​ताजपुरिया को मारने की योजना बना रहे थे।

गोली हरियाणा के रहने वाले आरोपियों ने चलाईं

पुलिस ने बताया कि तड़के करीब 2.15 बजे पुलिस ने अलीपुर इलाके में जीटी करनाल रोड से आ रही एक बाइक को रुकने का इशारा किया, लेकिन उसपर सवार लोगों ने भागने की कोशिश की।पुलिस उपायुक्त (बाहरी उत्तर) बृजेंद्र कुमार यादव ने कहा कि खुद को पुलिस से घिरा देख दोनों आरोपियों ने अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। दो गोलियां सब-इंस्पेक्टर रश्मि की बुलेट-प्रूफ जैकेट में लगीं। अधिकारियों ने बताया कि जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी गोलीबारी की और दोनों आरोपियों को पकड़कर उनके हथियार छीन लिए। पुलिस ने कुल 14 गोलाी चलाईं और आठ गोली हरियाणा के रहने वाले आरोपियों ने चलाईं।

चोरी की मोटरसाइकिल बरामद की

पुलिस के अनुसार वे जठेड़ी और बरार के निर्देश पर दिल्ली आए थे, जिन्होंने उन्हें ताजपुरिया और एक कांस्टेबल को मारने का निर्देश दिया था। यह भी पता चला कि परविंदर बेंगलुरु में हत्या के एक मामले में वांछित है। पुलिस ने कहा कि वह दिल्ली के लाहौरी गेट पर करीब 24.7 लाख रुपये, हरियाणा के बेरी झज्जर में 35 लाख रुपये और झज्जर के सदर इलाके में सात लाख रुपये की लूट के मामले में भी शामिल था। पुलिस ने कहा कि परविंदर जठेडी गिरोह के सक्रिय सदस्य मिथुन के साथ रहता था। लेकिन जब मिथुन को गिरफ्तार किया गया, तब परमिंदर नेपाल भाग गया था। पुलिस ने उनके पास से दो पिस्तौल, चार कारतूस, आठ खाली कारतूस और एक चोरी की मोटरसाइकिल बरामद की है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password