फिल्म एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण कर रही मजदूरी, जैकलीन खोद रही गड्ढे!

खरगौन: बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण सहित अन्य सभी फिल्म अभिनेत्रियां महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी मनरेगा में मजदूरी कर हजारों रु कमा रही है। इस खबर को सुनकर आर चौंक गए होंगे लेकिन यही सच है।

दरअसल, मध्यप्रदेश के खरगोन जिले की आदिवासी बहुल जनपद पंचायत झिरन्या की ग्राम पंचायत पिपरखेड़ नाका में यह मामला सामने आया है। जहां बॉलीवुड की फेसम एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण सहित अन्य जानी मानी एक्ट्रेस की फोटो मनरेगा के फर्जी जॉबकार्ड पर लगाकर लाखों रुपये की मजदूरी का भुगतान किया गया है। बता दें कि अधिकारियों ऐसे दर्जनों खातों जॉब कार्ड पर फिल्मी अभिनेत्रियों की तस्वीरों को इस्तेमाल कर रुपये हजम कर गए।

काम पर नहीं गए मजदूर और निकल गए रुपये

ऑनलाइन जॉब कार्ड पर ग्रामीण महिला-पुरुषों की तस्वीर की जगह एक्ट्रेस की तस्वीरें लगाई गईं। यहीं नहीं, इन जॉब कार्ड्स पर मजदूरी की राशि भी जारी कर दी है। वहीं जब इस बारे में ग्रामीणों से बात की गई तो कार्ड धारियों को इस बारे में कोई जानकारी ही नहीं थी और तो और उन्होंने बताया कि वो तो काम पर गए ही नहीं।

15 जॉब कार्ड मिले फर्जी

बता दें कि गांव में करीब 15 जॉब कार्ड ऐसे मिले जिस पर अभिनेत्रियों की तस्वीरें लगी हैं। सोनू शांतिलाल, मोनू शिवशंकर, सूरज रुखड़िया, मंगत बाबूलाल, अनारसिंह वेस्ता, गोविंद डोंगर सिंह, पदम सिंह रूपसिंह, उमराव सिंह, खुशियाल हीरालाल नाम के गांव वालों के जॉब कार्ड पर फिल्‍म एक्‍ट्रेसेस के फोटो लगे हुए हैं।

मजदूरों के जॉब कार्ड में गलत क्रमांक

पड़ताल के दौरान पता चला की जिन लोगों के पास जॉब कार्ड मौजूद हैं उन लोगों के क्रमांक में भी अंतर आ रहा है। कुछ किसान ऐसे भी थे जिनके पास 50 एकड़ जमीन होने के बावजूद उनके नाम से जॉब कार्ड बने हैं और वह भी अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की तस्वीर के साथ।

संपन्‍न किसान पुत्र मनोज दुबे संयुक्त परिवार में रहते हैं। उनके पास करीब 50 एकड़ जमीन है। जॉब कार्ड धारी मनोज उर्फ मोनू दुबे का कहना है कि मैंने जॉब कार्ड बनवाया नहीं और न ही मैं कभी मजदूरी पर गया. मेरा फर्जी कार्ड मंत्री और सचिव ने बनाया है और 30,000 रुपये निकाले हैं। मेरे जॉब कार्ड पर एक्‍ट्रेस दीपिका पादुकोण की फोटो लगी है, हम शिकायत करेंगे।

इसी जनपद पंचायत को मिला था पुरस्कार

गौरतलब है कि झिरन्या वही जनपद पंचायत है जिसे मनरेगा के तहत शत प्रतिशत मजदूरी भुगतान करने में देश में पहला स्थान पाया था। 15 अगस्त को जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी महेंद्र कुमार श्रीवास्तव को मनरेगा योजना में उत्कृष्ट कार्य करने पर पुरस्कृत किया गया था। इसी जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत पिपरखेड़ा नाका में फर्जीवाड़ा हुआ।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password