Councilor Salary : वार्ड पार्षद को मिलता है इतना वेतन, मिलती है यह सुविधाएं

Councilor Salary : वार्ड पार्षद को मिलता है इतना वेतन, मिलती है यह सुविधाएं

Counselor Mahapor Salary : नगर निगम, नगर पालिका, नगर परिषद के चुनाव के लिए उम्मीदवारों ने प्रचार शुरू कर दिया है। वार्ड पार्षद (Counselor Mahapor Salary) का चुनाव जीतने के लिए उम्मीदवार लाखों रूपये खर्च करता है। लेकिन क्या आपको पता है कि पार्षद का टिकट पाने और जीतने के लिए लाखों रूपये की राशि खर्च करने वाले पार्षद को कितना वेतन (Counselor Mahapor Salary) मिलता है। आप सुनकर चौंक जाएंगे की पार्षद को कितनी सैलरी मिलती है। साथ ही पार्षद और महापौर को भत्ता मिलकर कितना मानदेय मिलता है, यह आज हम आपको बताने जा रहे है।

पार्षद को मिलता है इतना वेतन?

आपको जानकर हैरानी होगी की एक वार्ड पार्षद जो चुनाव जीतने के लिए लाखों रूपये खर्च करता है, उसे सरकारी स्तर पर कुछ खास मानदेय और वेतन (Counselor Mahapor Salary) नहीं मिलता है। निगम पार्षदों को वेतन के तौर पर हर माह 6 हजार रूपये और एक मोबाइल सिम मिलती है।

वही पार्षद (Counselor Mahapor Salary) को अपने वार्ड में विकास करने के लिए कोई विशेष तौर पर पार्षद निधि नहीं होती है। उन्हें उनके वार्ड से मिला संपत्तीकर, व अन्य कर जमा के हिसाब से उसका 50 फिसदी ही खर्च करने को मिलता है। इसके साथ ही वार्ड पार्षद (Counselor Mahapor Salary) को निगम की होने वाली प्रत्येक बैठक के हिसाब से 250 रूपये का भत्ता मिलता है।

यानि कुल मिलाकर पूरे कार्यकाल में 15 से 20 बैठके होती है उसके हिसाब से उन्हें बैठक भत्ते के रूप में 5000 हजार रूपये का भत्ता मिल पाता है। वार्ड पार्षद (Counselor Mahapor Salary) के लिए पेंशन का कोई प्रावधान नहीं है।

निगम अध्यक्ष और महापौर का वेतन?

वार्ड पार्षद के बाद निगम अध्यक्ष और महापौर के वेतन (Counselor Mahapor Salary) की बात करे तो एक निगम परिषद अध्यक्ष को वेतन के रूपम में 11 हजार रूपये और महापौर को 13 हजार रूपये का वेतन (Counselor Mahapor Salary) मिलता है। इसके साथ ही दोनों को वाहन, आवास, आवास कर्मचारी, दफ्तर कर्मचारी की सुविधा मिलती है। मानदेय की बात करें तो एक महापौर को पूरे साल में करीब 6.60 लाख रुपए का मानदेय मिलता है। महापौर को ढाई हजार रुपए का सत्कार भत्ता भी मिलता है। वही सभापति की बात करते तो सभापति को 09 हजार रुपए मानदेय जबकि सत्कार भत्ते के रूप में 1400 रुपए मिलते हैं। लेकिन सभापति को टेलीफोन भत्ता नहीं मिलता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password