Corporate Fixed Deposit: अगर ज्यादा रिटर्न चाहिए तो कॉरपोरेट FD में करें निवेश, जानें क्या है कॉर्पोरेट एफडी?

Corporate Fixed Deposit: निवेश करने के वैसे तो कई तरीके लोग अपनाते हैं लेकिन इन सब में सबसे ज्यादा फिक्स्ड डिपॉजिट ( FD) में निवेश करना सबसे आसान व सही विकल्प माना जाता है। लेकिन क्या आपको पता है बैंक में एफडी करने के बजाए आप कॉर्पोरेट या कंपनी FD में निवेश करके ज्यादा फायदा उठा सकते हैं। कैसा आइए जानते हैं…

अगर आप कॉर्पोरेट FD में निवेश करके आप 10% से ज्यादा कमा सकते हैं। वहीं आपको बैंक में निवेश करने पर सिर्फ 5 से 6% तक ब्याज मिलता है। आमतौर पर निवेशक को आकर्षित करने के लिए इस एफडी पर कंपनियां बैंक और अन्‍य फाइनेंस कंपनियों से ज्‍यादा ब्याज देती हैं। क्‍योंकि, इन कंपनियों के पास कंपनी कानून तहत के डिपॉजिट लेने का अधिकार होता है। चूंकि कंपनियों के कॉरपोरेट FD पर ब्याज दर अधिक होता है इसलिए इसमें निवेश करना बेहतर होता है।

कॉर्पोरेट FD पर भी मिलता है टैक्स बेनिफिट

कॉर्पोरेट FD पर आप टैक्स बेनिफिट्स पा सकते हैं। बैंक औक कंपनी डिपॉजिट पर निवेशक आयकर की जिस स्लैब में आता है उसके अनुसार टैक्स लगता है। आयकर कानून 1961 के तहत अगर बैंक एफडी पर एक साल में ब्याज 10 हजार रुपये से ज्यादा बनता है तो स्त्रोत पर टैक्स कटैती (TDS) की जाती है। कंपनी एफडी में इसकी सीमा 5,000 रुपए है।

सुरक्षा की दृष्टि से बैंक एफडी या कॉर्पोरेट एफडी?

दरअसल, बैंक FD एक सुरक्षित फाइनेंशियल प्रोडक्ट मानी जाती है। क्योंकि अगर आप बैंक में FD कर रहे हैं तो इनमें रिजर्व बैंक के नियमों का पालन किया जाता है। वहीं बैंक अगर दिवालिया हो जाती है तो एफडी की राशि चाहे जितनी हो, 1 लाख रुपये तक के रुपये आपको डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन के तहत मिल जाते हैं।

वहीं अगर आप कॉर्पोरेट फिक्स्ड डिपॉजिट पर इस तरह का कोई प्रोटेक्शन नहीं रहता है। इसका मतलब यह नहीं है कि आपका इन्वेस्टमेंट जोखिम भरा है। फिर भी आपको किसी कंपनी के कॉर्पोरेट एफडी में पैसे इन्वेस्ट करने से पहले उस कंपनी की क्रेडिट रेटिंग जरूर देख लेनी चाहिए।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password