आप संक्रमित हैं या नहीं अब एक मिनट में पता चल जाएगा, सिंगापुर ने ब्रेथ टेस्ट सिस्टम को दी मंजूरी

covid test

नई दिल्ली। सिंगापुर सरकार ने सांस से कोविड-19 का पता लगाने वाले उपकरण को परीक्षण के लिए मंजूरी दे दी है। इस उपकरण को नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर (NUS) के प्रोफेसरों ने विकसित किया है। इस उपकरण का नाम ‘ब्रेफेंस गो कोविड-19 ब्रेथ टेस्ट सिस्टम’ रखा गया है। मालूम हो कि सांस के माध्यम से कोविड-19 की जांच करने के लिए मंजूरी प्राप्त करने वाला यह पहला उपकरण है।

परीक्षण के लिए उपकरण को जांच केंद्र पर लगाया जाएगा

कंपनी ने सोमवार को अपने प्रेस रिलीज में बताया कि हम ‘ब्रेफेंस गो कोविड-19 ब्रेथ टेस्ट सिस्टम’ का परीक्षण करने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। शुरुआत में इसे एक जांच केंद्र में लगाया जाएगा। जैसे ही इसके परिणाम सटीक आने लगेंगे उसके बाद इसे दूसरे केंद्रों पर भी लगाया जाएगा।

एक मिनट में आ जाएगी रिपोर्ट

कंपनी ने बताया कि सांस से होने वाली जांच के साथ ही कोविड-19 एंटीजन टेस्ट भी किया जाएगा। मालूम हो कि इस ब्रेथोनिक्स की स्थापना सिंगापुर यूनिवर्सिटी के चार प्रोफेसरों, डॉ जियान झुनान, डू फैंग और वायने वी सहित भारत में जन्में प्रोफेसर टी वेंकी वेकेंटेशन ने की है। इस उपकरण में कोविड टेस्ट के लिए लोगों को फूंक मारनी पड़ेगी। खास बात ये है कि जांच का नतीजा महज एक मिनट से भी कम समय में आ जाएगा।

पुष्टि के लिए RT-PCR टेस्ट भी किया जाएगा

आपको बतादें कि अगर कोई व्यक्ति इस टेस्ट में संक्रमित पाया जाता है तो उसकी पुष्टि के लिए RT-PCR टेस्ट भी किया जाएगा। जैसे ही यह डिवाइस टेस्ट पास कर लेगा। इसके बाद इसे पूरी तरह से एक COVID परीक्षण के लिए केंद्रों पर तैनात किया जाएगा। बता दें इस समय एशियाई देशों में कोरोना वायरस के मामलों में अचानक वृद्धि देखी जा रही है, साथ ही इन देशों में मौत का आंकड़ा भी बढ़ा है (Coronavirus Situation in Asia)। जिसके चलते दोबारा नई पाबंदियां लगाई जा रही हैं। ब्रेथोनिक्स का कहना है कि वह कई स्थानीय और विदेशी संगठनों के इस साथ इस सिस्टम के इस्तेमाल को लेकर चर्चा कर रहा है। इससे पहले इंडोनेशिया और नीदरलैंड में भी इस तरह के टेस्ट किए गए हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password