Shadi In Corona Kaal: कोरोना का असर, 6 घंटे में सिमट गया 20 घंटे का वैवाहिक प्रोग्राम, धूम धड़ाका भी गायब…

भोपाल। प्रदेश समेत पूरे देश में कोरोना का कहर जारी है। कोरोना की रफ्तार कम होने के बाद भी इसका डर अभी लोगों के दिमाग से निकला नहीं है। कोरोना के आने के बाद से सालों से चली आ रही मान्यताओं और विश्वास में भी बदलाव देखने को मिला है। प्रदेश समेत पूरे देश में होने वाला शादी का कार्यक्रम अब 20 घंटे से सिमटकर मात्र 6 घंटे का हो गया है। अब शादियों में पहले जैसे धूमधड़ाके की अनुमति नहीं है। इसी क्रम में शादी वाले घरों में जल्द से जल्द रस्में अदा कर विदाई कर ली जा रही है। पहले गांव अंचलों में शादी का समारोह धूमधाम से 20-22 घंटों तक चला करता था। कोरोना महामारी की दस्तक के बाद से शादियों के लिए नियम बना दिए गए हैं।

वहीं कोरोना संक्रमण के डर से ज्यादातर जागरुक लोग कम ही लोगों के साथ शादियां संपन्न करा रहे हैं। अब शादियों की शुरुआत शाम ढ़लने के बाद होती है और सुबह सूरज निकलने से पहले विदाई करा ली जा रही है। इस तरह मात्र 6 घंटों में ही शादी का समारोह संपन्न हो जाता है। साथ ही शादी के दिन गावों में होने वाली पंगत में भी सीमित लोगों को बुलाया जा रहा है। वहीं बारात में भी मात्र 5-10 लोगों को शामिल किया जा रहा है। पहले की शादियों में बारात में जो भीड़ आती थी वह प्रथा इस कोरोना काल में गायब सी होने लगी है

इन रस्मों के कारण शादी का घटा समय…
दरअसल अब कोरोना काल में शादी की रस्मों को शॉर्ट कर दिया गया है। कई रस्में धूम-धड़ाके की वजाए अब शांति से समय रहते निपटाई जा रही है। पहले शादियों में बारात शहर की गलियों में घूमकर दुल्हन के घर पहुंचती थी। इस फेरी में 3-4 घंटे का समय लगता था। कोरोना काल के बाद से यह फेरे पूरी तरह से बंद हो गए हैं। अब दूल्हा सीधा दुल्हन के घर पहुंचता है। साथ ही रस्मों को समय रहते पूरा किया जा रहा है। गांवों में पैर पूजने वाले कार्यक्रम को भी बंद कर दिया है। अब शादियों में कई रस्मों को फटाफट निपटा लिया जा रहा है। शादियों में भांवर की रस्म के बाद सीधे विदाई की तैयारी की जाने लगती है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password