Corona virus: संक्रमण से बचने के लिए दिन में कितनी बार करना चाहिए गरारा, जानिए इस पर एक्सपर्ट क्या कहते हैं

gargle

नई दिल्ली। आज कल लोग संक्रमण से बचने के लिए तरह-तरह के उपाय अपना रहे हैं। कोई भाप ले रहा है, कोई काढ़ा पी रहा है, तो कई गरारे कर रहा है। लोगों को लग रहा है कि ऐसा करने से कोरोना वायरस का असर उनपर नहीं होगा या अगर कोई संक्रमित है तो इससे वायरस बाहर आ जाएगा। लेकिन इसकी सच्चाई क्या है आज हम एक्सपर्ट्स से जानने की कोशिश करेंगे।

गांधी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर, राजेश गैंगराडे कहते हैं कि जो लोग घरेलू उपाय कर रहे हैं। वो कोरोना में काफी लाभदायक है। लेकिन हमे ये जानना चाहिए कि हम जो उपाय कर रहे हैं उसका सही तरीका क्या है? खासकर गरारे को लेकर उन्होंने विस्तार से बात की है।

गरारा क्यों करने चाहिए ?

डॉक्टर का कहना है कि गरारा करने से गले में मौजूद गंदगी साफ हो जाती है। अगर गला खराब है या किसी तरह की सूजन है तो गरारे करने से उसमें आराम मिलता है। हालांकि, आजकल लोग गरारा करे लिए कई एक्पेरिमेंट कर रहे हैं। जैसे नमक और हल्दी के पानी से गरारे करना आदि। लेकिन डॉक्टर कहते हैं कि अभी तक ये जानकारी सामने नहीं आई कि इससे कोरोना वायरस मर जाता है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि गरारा ओरल हाइजीन के लिए जरूरी है। अगर आपको जुकाम या फिर गला खराब है, तो आपको गरारे से फायदा मिल सकता है।

ज्यादा गरारा करने से नुकसान भी हो सकता है

अगर आप हाई ब्लड प्रेशर के मरीज है और दिन में कई बार नमक वाले पानी से गरारा करते हैं तो ये आपके लिए सही नहीं है। क्योंकि इससे आपका ब्लड प्रेशर और बढ़ जाएगा। साथ ही नॉर्मल व्यक्ति को भी दिन में कई बार गरारे नहीं करने चाहिए। इससे गले में सूजन आ सकती है। अगर आप ज्यादा गर्म पानी से गरारा करते हैं इससे आपके गले में अल्सर हो सकता है। साथ ही रैशेज और छाले का भी खतरा बना रहता है।

कितनी बार और कब गरारे करने चाहिए?

अगर आपके गले में कोई परेशानी है तो डॉक्टर आपको दिन में कई बार गरारे करने के लिए कह सकते हैं। लेकिन एक सामान्य व्यक्ति को सुबह-शाम या फिर दिन में 3 बार ही गरारा करना चाहिए। डॉक्टर्स खाने के बाद गरारा करने की सलाह देते हैं। आप ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर के बाद गरारा कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे पानी ज्यादा गर्म नहीं हो। आप चाहें तो नॉर्मल पानी से भी गरारा कर सकते हैं। गरारा करने से आपको जुकाम, गले की खराश जैसी समस्याओं में आराम मिलेगा। इससे आप ओरल हाइजीन रख सकते हैं।

कौन सा गार्गल बेहतर है?

अगर आपका गला ज्यादा खराब है, गले में किसी तरह की सूजन है या फिर गले में दर्द है, तो आप पानी में बीटाडीन डालकर गरारे करें। बीटाडीन एक एंटीबैक्टीरियल दवा है जिससे इंफेक्शन दूर होता है। इसके साथ ही आप हल्दी और नमक के पानी से गरारे कर सकते हैं। हालांकि आपको दिन में 3 बार से ज्यादा गरारे नहीं करने चाहिए।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password