प्रदेश में महाराष्ट्र से आने वाले लोगों की कोरोना जांच जरूरी

रायपुर: छत्तीसगढ़ में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं। कोरोना संक्रमण के विस्तार को रोकने के लिए सीमावर्ती महाराष्ट्र से राज्य में आने वाले लोगों की कोरोना जांच जरूरी होगी। वहीं छत्तीसगढ़ की राज्यपाल का कहना है कि इसके लिए राज्य की सीमा पर प्रबंध किया जाना चाहिए और क्वारेंटाईन सेंटर बनाए जाने चाहिए।

राज्यपाल अनुसुईया उइके ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जनजागरण में राजनीतिक दल के कार्यकर्ताओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने राजनीतिक दलों के प्रमुखों से आग्रह किया कि वे अपने कार्यकर्ताओं के माध्यम से गांव-गांव में इस बीमारी से बचाव के उपायों के बारे में लोगों को जागरूक करें। राज्यपाल आज राज्य में कोरोना संक्रमण के प्रसार की रोकथाम के संबंध में विचार विमर्श के लिए आयोजित सर्वदलीय वर्चुअल बैठक को संबोधित कर रही थीं। बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और अन्य राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

18 जिलों में लगाया गया लॉकडाउन

राज्य के 18 जिलों में लॉकडाउन के बाद भी प्रदेश की संक्रमण दर बेतहाशा बढ़ रही है। पिछले 24 घंटे में कोरोना के 46,528 टेस्ट हुए। इनमें से 14,250 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, यानी प्रत्येक 100 जांच में 30.62 लोग पॉजिटिव मिले। बुधवार को प्रदेश में 73 संक्रमितों की मौत भी हुई।

प्रदेश सरकार ने लागू किया एस्मा

दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में एस्मा लागू किया है। यह कानून स्वास्थ्य, स्वच्छता, बिजली, जल आपूर्ति और सुरक्षा सेवा में लगे कर्मचारियों पर लागू होगा। इसके बाद सरकारी आदेश का पालन ना करने वालों व कार्य का बहिष्कार जैसी स्थितियों में जेल भी हो सकती है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password