Corona Curfew: प्रदेश में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, इन जिलों में फिर फिर बढ़ाया कोरोना कर्फ्यू, 24 तक जारी रहेंगी पाबंदियां

Corona Curfew: प्रदेश में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, इन जिलों में फिर फिर बढ़ाया कोरोना कर्फ्यू, 24 तक जारी रहेंगी पाबंदियां

भोपाल। प्रदेश में कोरोना महामारी का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। रोजाना हजारों की संख्या में नए मरीज सामने आ रहे हैं। वहीं हजारों लोग अब कोरोना महामारी के दंश से काल के गाल में समा चुके हैं। कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए सरकार ने प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू को बढ़ा दिया था। अब एक बार फिर प्रदेश के कुछ जिलों में कोरोना कर्फ्यू को बढ़ा दिया है। अब प्रदेश के धार और अशोकनगर में 24 मई तक कोरोना कर्फ्यू लागू रहेगा। वहीं रतलाम में 25 मई तक कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने का फैसला लिया गया है।

बता दें कि सीएम शिवराज सिंह ने हाल ही में कहा था कि जिन जिलों में कोरोना पॉजिटिविटी गर 5 प्रतिशत से कम है वहां, कोरोना कर्फ्यू को हटाया जाएगा। हालांकि सरकार ने इसके लिए शर्त भी रखी है। इस शर्त के अनुसार जिन जिलों में पॉजिटिविटी रेट 5 प्रतिशत से नीचे है, वहां 17 मई के बाद से कोरोना कर्फ्यू हटा दिया जाएगा।

सीएम ने दिए आदेश..
सीएम शिवराज सिंह ने इसको लेकर आदेश दे दिए हैं। सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मापदंडों के अनुसार यदि पॉजिटिविटी दर 5% से नीचे आती है तो यह कोरोना संक्रमण के नियंत्रण के लिए यह अच्छी खबर है। प्रदेश के ऐसे जिलों से कोरोना कर्फ्यू धीरे-धीरे वैज्ञानिक ढंग से हटाया जाएगा जहां कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर 5% से नीचे आ गई है। इसके साथ ही सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि जिन जिलों में पॉजिटिविटी रेट बढ़ा रहेगा वहां कोरोना कर्फ्यू नहीं खोला जाएगा।

वहीं प्रदेश के जिलों में संक्रमण की रफ्तार की बात करें तो खंडवा, भिंड, बुरहानपुर और छिंदवाड़ा जिलों में कोरोना पॉजिटिविटी रेट 5% से नीचे है। वहीं प्रदेश में कोराना का पॉजिटिविटी रेट 27% तक है। जहां यह 5% से नीचे आने में फिलहाल वक्त लगेगा। इसके साथ ही इन जिलों में 17 मई से कोरोना कर्फ्यू हटाया जा सकता है। बता दें कि प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए कोरोना कर्फ्यू लगाया गया था। अब कोरोना संक्रमण की रफ्तार में कमी देखते हुए कोरोना कर्फ्यू हटाने पर विचार किया जा रहा है। कोरोना कर्फ्यू के कारण बंद पड़े व्यवसायों से डेली बेसिस पर काम करने वाले कर्मचारियों की आय पर फर्क पड़ा है। वहीं कोरोना के मरीज भी पिछले दिनों से कम आ रहे हैं। इसी को देखते हुए यह फैसला लिया गया है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password