Corona 4th wave : आने वाली है कोरोना की चौथी लहर, क्या बनेंगे लॉकडाउन जैसे हालात?

Corona 4th wave : आने वाली है कोरोना की चौथी लहर, क्या बनेंगे लॉकडाउन जैसे हालात?

Corona 4th wave : भारत में कोरोना के मामले अब तेजी से सामने आने शुरू हो गए है। देश में अब रोजाना 4 हजार से अधिक मामले सामने आने लगें है पिछले 24 घंटे में भारत में कोरोना के 4518 मामले दर्ज किए गए है। इससे एक दिन पहले 4 हजार से अधिक मामले दर्ज किए गए थें। वही कोरोना से मौतों का सिलसिला जारी है। कोरोना के बढ़ते मामले और मौतों को लेकर कोरोना की चौथी लहर (Corona 4th wave) ही आहट है। इसी बीच टाटा इंस्टिट्यूट के डॉक्टर राकेश मिश्रा का एक बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि चौथी लहर की संभावना बेहद कम है, मुझे नहीं लगता कि भारत में कोरोना की अगली वेव (Corona 4th wave) अभी आने वाली है।

डॉ. राकेश मिश्रा ने कहा है कि कोरोना वायरस के नए-नए रूप सामने आते रहेंगे लेकिन सावधानी बरती जाए तो ये ज्यादा चिंता की बात नहीं है। कोरोना का वायरस खुद को हालात के मुताबिक ढालते हुए नए रूप में सामने आता रहेगा। लेकिन अगर हम सभी तरह की सावधानियां बरतते रहेंगे, तब तक इसे लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है। कोरोना से इस जंग में मास्क अहम हथियार हैं मुझे नहीं लगता कि भारत को कोरोना की चौथी लहर (Corona 4th wave) देखने को मिलेगी क्योंकि इसकी संभावना काफी कम लग रही है। कोरोना के जितने केस आंकड़ों में दिखाए जा रहे हैं, असलियत उससे कहीं अलग हो सकती है। ये कहीं इससे बहुत ज्यादा हो सकते हैं। लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। उन्होंने लोगों से अपील करते हैं कि एकदूसरे से दूरी बनाकर रखें, मास्क लगाए रखें और साफ-सफाई का ध्यान रखें।

आपको बता दें कि तीन महीने से देश में कोरोना मामलों की रफ्तार थम सी गई थी लेकिन पिछले कुछ हफ्तों से कोरोना मामलों (Corona 4th wave) में इजाफा देखा जा रहा है। शुक्रवार को पहली बार देश में नए कोविड केसों (Corona 4th wave) की संख्या 4 हजार के पार गई थी। कोरोना केसों (Corona 4th wave) में उछाल को देखते हुए केंद्र सरकार ने 5 राज्यों को पत्र भी लिखा था और सख्त निगरानी रखने व कड़े इंतजाम करने को कहा था। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने तमिलनाडु, केरल, तेलंगाना, कर्नाटक और महाराष्ट्र को लिखे पत्र में कहा था

क्या लेगेगा लॉकडाउन?

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए आशंका है कि कोरोना की चौथी लहर (Corona 4th wave) आ सकती है। ऐसे में अगर कोरोना की चौथी लहर (Corona 4th wave) आती है तो इससे निपटने के लिए लॉकडाउन ही एक सहारा है ऐसा विशेषज्ञों का मानना है। क्योंकि कोरोना की चौथी लहर (Corona 4th wave) खतरनाक साबित हो सकती है। वही कोरोना के वायरस को रोकने के लिए लॉकडाउन ही एक नाम मात्र उपाय है। फिलहाल चौथी लहर (Corona 4th wave) की आशंका कम है। लेकिन सावधानियां बेहद जरूरी है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password