लड़कियों के अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करता था युवक, पुलिस को कई और बड़े खुलासे की उम्मीद



लड़कियों के अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करता था युवक, पुलिस को कई और बड़े खुलासे की उम्मीद

भोपाल। मध्य प्रदेश के सतना जिले में लड़कियों को ब्लैकमेल कर यौन शोषण करने का मामला सामने आया है। लड़कियों को ब्लैकमेल कर यौन शोषण करने वाला युवक सिकंदर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उसे 2 दिनों की रिमांड पर लिया है। सिकंदर के इस कारनामे को लव जिहाद से भी जुड़ा माना जा रहा है। इस सनसनीखेज मामले में अभी कई और रहस्य उजागर होने की उम्मीद जताई रही है।

 

SIT का भी गठन कर दिया
माना जा रहा है कि सिकंदर किसी रैकेट से भी जुड़ा हो सकता है। सिकंदर एक साइबर कैफे चलाता है और यहीं पर लड़कियों के अश्लील वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करता था। एसपी के मुताबिक एक नाबालिग ने शिकायत की थी सिकंदर ने फेसबुक पर समीर बनकर उससे दोस्ती की थी उसके कुछ दिन बाद अपने फॉर्म हाउस पर बुलाकर नशीली दवा खिलाकर दुष्कर्म किया और वीडियो भी बना लिया था। जब पीड़ित नाबालिग ने उस पर वीडियो डिलीट करने का दबाव बनाया तो वह वीडियो वायरल करने की धमकी देने लगा था जिसके बाद नाबालिग ने पुलिस में शिकायत की थी…पुलिस ने आरोपी को साइबर कैफे और फॉर्म हाउस को सील कर दिया है। एसपी ने पूरे मामले की जांच के लिए एक SIT का भी गठन कर दिया है।

 

बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने
रेप के आरोपी को लेकर बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने आ गई। सतना में दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार सिकंदर खान को बीजेपी ने कांग्रेस का कार्यकर्ता बताकर निशाना साधा। बीजेपी ने स्थानीय कांग्रेस नेताओं पर उसे संरक्षण देने का आरोप लगाया। वहीं कांग्रेस ने बीजेपी पर इसे लेकर भ्रम फैलाने का आरोप लगाया। कांग्रेस के मुताबिक सिकंदर कांग्रेस का सदस्य तक नहीं है। किसी नेता के साथ फोटो खिंचवाने से कोई कांग्रेस का सदस्य नहीं हो जाता।

कांग्रेस ने कार्रवाई क्यों नहीं की
भाजपा ने आरोप लगाया कि सतना के कांग्रेस पदाधिकारी सिकंदर खान पर नाबालिक के साथ 2 साल तक बलात्कार करने के आरोपी होने के बाद भी कांग्रेस ने कार्रवाई क्यों नहीं की। कांग्रेस के लोकसभा अध्यक्ष द्वारा वहां पुलिस पर दबाव बनाने का प्रयास आरोपी को छुड़ाने के लिए किया गया।

कड़ीं सजा मिलनी चाहिये
वही कांग्रेस का कहना है​ कि सतना के सिकन्दर के सम्बंध में भाजपा द्वारा यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि वह कांग्रेस का पदाधिकारी है वास्तविकता यह है कि वह कांग्रेस का पदाधिकारी तो दूर वह कांग्रेस का प्राथमिक सदस्य भी नही है किसी नेता के साथ फोटो खिंचवा लेना या होर्डिंग बैनर लगा लेने से कोई व्यक्ति उस दल का। सदस्य नही हो जाता ! सिकन्दर ने जो कृत्य किया है कांग्रेस उसकी कड़े शब्दों में निंदा करती है और ऐसा कृत्य करने वाले हर व्यक्ति को कड़ीं से कड़ीं सजा मिलनी चाहिये।

Share This

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password