Bayanbaji: कांग्रेस नेता सज्जन वर्मा ने अपने पुराने साथी सिंधिया पर बोला हमला, कहा उन्होंने तो कुत्ते की समाधी…

देवास। भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जब से कांग्रेस को टाटा कहा है तभी से कांग्रेस के नेता उनके खिलाफ बयानबाजी करते रहते हैं। हाल ही में राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह ने भी सिंधिया पर हमला बोला था। अब कांग्रेस के दिग्गज नेता सज्जन सिंह वर्मा ने भी सिंधिया को लेकर बयान दिया है। वर्मा ने कहा कि सिंधिया सबसे बड़े भूमाफिया हैं। उन्होंने शिवपुरी में कुत्ते की समाधी को भी नहीं छोड़ा है। सिंधिया ने शिवपुरी में कुत्ते समाधी को भी अपने नाम कर लिया है। शिवपुरी में हजारों एकड़ भूमि जो ट्रस्ट के नाम पर थी, वह पूरी जमीन उन्होंने अपने नाम करवा ली। वर्मा ने कहा कि सिंधिया इतनी जमीन लेकर कहां जाएंगे।

वर्मा ने भाजपा पर भी हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा ने विधायकों की खरीद फरोख्त करके लोकतंत्र की हत्या की है। दरअसल शनिवार को कांग्रेस ने प्रदेश में लोकतंत्र सम्मान दिवस मनाया है। इस मौके पर देवास पहुंचे वर्मा ने कहा कि भाजपा ने पैसों के बलबूते पर सरकार गिराई है। कमलनाथ के पास भी खूब पैसा है, हमारे संपर्क में भी भाजपा के विधायक थे। लेकिन हमने पैसों से लोकतंत्र की हत्या नहीं की। बता दें कि 20 मार्च को एक साल पहले प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिर गई थी। इसी दिन को कांग्रेस ने लोकतंत्र सम्मान दिवस के रूप में मनाया है। कांग्रेस ने पूरे प्रदेश में तिरंगा रैली भी निकाली है।

एक साल पहले गिर गई थी सरकार
गौरतलब है कि एक साल पहले 20 मार्च को मप्र की सियासी हवा बिगड़ गई थी। आज ही के दिन कांग्रेस सरकार अल्पमत के कारण गिर गई थी। तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ को पद से इस्तीफा देना पड़ा था। वहीं शिवराज सिंह ने एक बार फिर सीएम का पद संभाला था। दरअसल गत विधानसभा चुनावों में जीत हासिल करने वाली पार्टी कांग्रेस के 28 विधायक कांग्रेस का हाथ छोड़ भाजपा के ध्वज तले शामिल हो गए थे। इसके बाद कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी। वहीं कांग्रेस छोड़ने वाले विधायकों में से 22 विधायक ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक थे। वे सभी विधायक ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए थे। वहीं कुल 28 विधायकों ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password