CM Shivraj Corona Meeting : हेलिकॉप्टर से जिलों में पहुंचेंगे रेमडेसिविर, ट्रेन से आएंगे ऑक्सीजन सिलेंडर, मास्क की बढ़ेगी सख्ती

 

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना के केस Madhya Pradesh Corona Case लगातार बढ़ते जा रहे है। धीरे धीरे यहां कोरोना की वजह से स्थिति बहुत खराब होती जा रही है। सरकार और प्रशासन इसको रोकने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है और प्रदेश के एक दर्जन से अधिक शहरों में कोरोना कर्फ्यू लगा दिया गया है जिससे कोरोना के केस का कम किया जा सके,लेकिन उसके बाद भी स्थिति में सुधार नहीं हो रहा है।

प्रदेश में मास्क काे लेकर ज्यादा सख्ती की जाएगी
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज भोपाल में CM Shivraj Corona Meeting कोरोना को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हालात विकट हो गए हैं। जरूरत पड़ी तो रेमडेसिविर इंजेक्शन हेलिकॉप्टर से जिलों में पहुंचाएंगे। शिवराज ने कहा कि अब प्रदेश में मास्क काे लेकर ज्यादा सख्ती की जाएगी।

हेलीकॉप्टर का उपयोग किया जायेगा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के नियंत्रण और रोगियों के समुचित उपचार के लिए आवश्यकता के अनुरूप ऑक्सीजन, इंजेक्शन और बेड आदि की व्यवस्था की जा रही है। मध्यप्रदेश में अन्य राज्यों से ऑक्सीजन की अपूर्ति के लिए केंद्रीय रेल मंत्री से भी चर्चा हुई है, जिसके फलस्वरूप राउरकेला और भिलाई से रेल द्वारा जरूरत पड़ने पर ऑक्सीजन बुलवाई जा सके।

ऑक्सीजन बिना बाधा के प्राप्त हो रही
हिमाचल और महाराष्ट्र से ऑक्सीजन आपूर्ति प्राप्त करने के प्रयास किये जा रहे हैं। वर्तमान में गुजरात से रोजाना 120 मीट्रिक टन ऑक्सीजन बिना बाधा के प्राप्त हो रही है। जरूरी हुआ तो प्रदेश में विभिन्न स्थानों तक इंजेक्शन पहुँचाने के लिए हेलीकॉप्टर का उपयोग किया जायेगा।

संबंध में विस्तार से चर्चा की
मुख्यमंत्री ने मंत्रालय में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान और अन्य सभी संबंधित वरिष्ठ अधिकारियों के साथ प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और बेहतर प्रबंधों के संबंध में विस्तार से चर्चा की।

कोविड केयर सेंटर्स भी प्रारंभ हो गए
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि संक्रमण से नागरिकों को बचाना हम सभी का पहला दायित्व है। व्यवस्थाओं में कोई कमी नहीं होना चाहिए। हमारे प्रयत्नों से व्यवस्थाएँ बेहतर हों और आमजन का मनोबल भी बढ़े। आपदा की यह स्थिति जल्द समाप्त हो। राज्य सरकार ने चुनौतियों और कठिनाईयों का सामना करते हुए संक्रमण की चैन तोड़ने के लगातार प्रयास किए हैं। यह प्रयास जारी रहेंगे। प्रदेश में बिस्तर संख्या बढ़कर 36 हजार हो गई है। जिलों में कोविड केयर सेंटर्स भी प्रारंभ हो गए हैं।

8 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर यूनिट भी लग रही
मुख्यमंत्री चौहान ने इसके पूर्व स्मार्ट उद्यान में वृक्षारोपण के पश्चात मीडिया प्रतिनिधियों को बताया कि प्रदेश में अभी 280 मेट्रिक टन ऑक्सीजन उपलब्ध है। यह भी प्रयास किया जा रहा है कि अनावश्यक ऑक्सीजन का उपयोग न हो। प्रदेश को प्रतिदिन 500 मीट्रिक टन तक ऑक्सीजन उपलब्ध कराने का प्रयास है। प्रदेश में नई 8 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर यूनिट भी लग रही हैं।

उपयोग में लाया जा रहा

उज्जैन, शिवपुरी, सिवनी और खंडवा में यह शुरू हो गई हैं। शेष चार जिले मंदसौर, रतलाम, मुरैना और जबलपुर में लग रही हैं। हवा से ऑक्सीजन को पृथक कर मरीजों के लिए उपयोग किया जाता है। इसके साथ ही एक अन्य कंसंट्रेटर उपकरण रोगियों के चेहरे पर लगाकर उपयोग में लाया जा रहा है। प्रदेश में अभी 180 कंसंट्रेटर हैं। इसके अलावा 750 कंसंट्रेटर अतिरिक्त मिल रहे हैं। कुल 2 हजार कंसंट्रेटर का अनुरोध किया गया है, जिसकी आपूर्ति हो रही है।

रेमडेसिविर इंजेक्शन की व्यवस्था
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी नहीं है। प्रदेश को अभी 31 हजार इंजेक्शन प्राप्त हो चुके हैं, गुरूवार को 12 हजार अतिरिक्त इंजेक्शन और मिलेंगे। आवश्यकता हुई तो हवाई सेवाओं का उपयोग भी इन्हें बुलवाने के लिए किया जा सकता है। कुल 50 हजार इंजेक्शन की सप्लाई का आर्डर दिया जा चुका है। प्रदेश में एक लाख तक इंजेक्शन की आपूर्ति का लक्ष्य है, ताकि अधिक से अधिक आवश्यकता पड़ जाने पर रोगियों के लिए व्यवस्था बनी रहे।

जन हित सर्वोपरि

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यह संकट का समय है। प्रदेश की जनता का हित मेरे लिए सर्वोपरि है। सभी व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने के लिए मैं 24 घंटे संकल्पबद्ध हूँ। आज दौरा निरस्त कर कोरोना रोकथाम के प्रयासों को सुनिश्चित किया है। वरिष्ठ अधिकारी भी अपने अमले के साथ प्रयत्नों की पराकाष्ठा कर रहे हैं।

प्रार्थना और इबादत परिवार स्तर पर हों
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान समय में आवश्यक है कि नवरात्रि पर्व और रमजान पर्व पर प्रार्थना और इबादत परिवार स्तर पर हो। अनावश्यक रूप से बाहर न निकलें। मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकरणों के दृष्टिगत आमजन से सावधानियों का पूरी तरह से पालन करने को कहा है। बिना काम के घर से बाहर जाना संक्रमण को बढ़ा सकता है।

बेड क्षमता बढ़ाने निजी संस्थान सहयोग के लिए आगे आए

मुख्यमंत्री ने निजी संस्थाओं को कोरोना संक्रमण के संकट के समय सहयोग के लिए आगे आने की अपील की थी। शासकीय और निजी अस्पतालों में निरंतर बिस्तर बढ़ाए जा रहे हैं। संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए आवश्यक बेड की व्यवस्था के लिए आपात स्थिति को देखते हुए नियमों के पालन को भी शिथिल किया गया है। स्वैच्छिक संगठन भी आगे आए हैं। इंदौर में राधा स्वामी सत्संग न्यास द्वारा 500 बिस्तर का केंद्र प्रारंभ करने के लिए सहयोग दिया जा रहा है। भविष्य में जरूरत होने पर इसकी क्षमता भी बढ़ाई जायेगी।

मास्क न लगाने पर जुर्माना बढ़ाने पर विचार

मुख्यमंत्री चौहान ने विपदा के समय सभी नागरिकों से सहयोग देने का आग्रह किया है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि विभिन्न रहवासी संघ कॉलोनी स्तर पर स्वैच्छिक सहयोग कर रहे हैं। अन्य लोगों को भी उनका अनुसरण करना चाहिए। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मास्क का उपयोग न करना सामाजिक अपराध है। उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना बढ़ाने का विचार किया जा रहा है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password