CM Rise School Big Breaking : एलर्ट! कल से शुरू हो जाएंगे अतिथि शिक्षकों के लिए ​रजिस्ट्रेशन, खुल जाएगा पोर्टल

CM Rise School Big Breaking : एलर्ट! कल से शुरू हो जाएंगे अतिथि शिक्षकों के लिए ​रजिस्ट्रेशन, खुल जाएगा पोर्टल

भोपाल। मध्यप्रदेश में सरकारी CM Rise School स्कूलों को लेकर CM Rise School Big Breaking बड़ी खबर सामने आई है। जिसमें privat school अब प्रायवेट स्कूलों की CBSE School तर्ज पर सरकारी स्कूलों में mp school reopen big breaking नए पेरेंट्स टीचर्स मीटिंग PTM होगी। साथ ही स्कूलों से Atithi Shikshak news बच्चों को mp school big breaking घर जाने के लिए बस सुविधा फ्री में दी जाएगी। दरअसल एमी में 13 जून से एमपी बोर्ड से सीएम राइज स्कूल खुलने जा रहे हैं। जिसे लेकर तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं।

लॉटरी सिस्टम से मिलेगा एडमीशन —
आपको बता दें 13 जून से स्कूलों में एडमीशन शुरू होना है। जिसमें एडमीशन लॉटरी सिस्टम के आधार पर दिया जाएगा। इतना ही नहीं यहां आने—जाने के लिए विद्यार्थियों को फ्री बस सेवा दी जाएगी। साथ ही प्रायवेट स्कूलों और सीबीएसई की तर्ज पर पीटीएम यानि पेरेंट्स टीचर्स मीटिंग भी होगी।

Bank Holidays in June 2022 : 11 जून से लगातार इतने दिन रहेंगे बैंक बंद, फटाफट निपटा लें काम, यहां चेक करें पूरी लिस्ट

अभी 50 सीएम राइज स्कूल होंगे प्रारंभ —
आपको बता दें शुरुआती दौर में केवल 50 सीएम राइज स्कूल प्रारंभ होंगे। पहले चरण में 274 सीएम राइज स्कूल प्रारंभ होना थे। जिसमें अतिथि शिक्षकों को भी रखा जाएगा। जिसके रजिस्ट्रेशन के लिए 10 जून से पोर्टल खोला जाएगा।

यह भी पढ़ें : School Reopen Big Breaking : छात्रों को बड़ी राहत, स्कूल खुलने से पहले शिक्षा विभाग का बड़ा आदेश

क्या होते हैं सीएम राइज स्कूल —

आठ मुख्य विशेषताएं
सी.एम. राइज विद्यालयों की 8 प्रमुख विशेषताएं होंगी। अच्छी अधोसंरचना, हर विद्यार्थी के लिए परिवहन सुविधा, नर्सरी/ केजी कक्षाएं, शत-प्रतिशत शिक्षक एवं अन्य स्टाफ, स्मार्ट क्लास एवं डिजिटल लर्निंग, सुसज्जित प्रयोगशालाएँ एवं समृद्ध पुस्तकालय, व्यावसायिक शिक्षा और अभिभावकों की सहभागिता।

हायर सेकंडरी की कक्षाएं संचालित होती
सी.एम. राइज विद्यालयों को केंद्रीय विद्यालय की तर्ज पर खोला जाता है। यहां हिंदी-अंग्रेजी दोनों माध्यम में संचालित होने वाले ये स्कूल विश्वस्तरीय सुविधाओं (स्वीमिंग पूल, बैंकिंग काउंटर, डिजिटल स्टूडियो, कैफेटेरिया, जिम, थिंकिंग एरिया) से लैस होते है। इनमें प्री-नर्सरी से हायर सेकंडरी की कक्षाएं संचालित होती है। इन स्कूलों में 15 से 20 किमी की परिधि में रहने वाले बच्चे पढ़ेंगे और उन्हें स्कूल तक लाने व घर छोड़ने के लिए सरकार बस, वैन की सुविधा उपलब्ध कराएगी। सरकार ने इस पर काम शुरू कर दिया है।

Gold Testing Tips : सोना असली है या नकली? घर बैठे मिनटों में ऐसे करें पहचान, ये हैं टेस्ट के तरीके

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password