राजस्थान के सीमावर्ती जिले में बिजली घर की सुरक्षा की जिम्मेदारी सीआईएसएफ के हवाले

नयी दिल्ली, 30 दिसंबर (भाषा) राजस्थान के सीमावर्ती श्री गंगानगर जिले में स्थित राज्य के सबसे बड़े बिजली संयंत्र की सुरक्षा की जिम्मेदारी केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने ले ली है।

बिजली संयंत्र के मुख्य इंजीनियर बी कुमार ने मंगलवार को एक कार्यक्रम के दौरान सीआईएसएफ के उप महानिरीक्षक प्रबोध चंद्रा को बिजलीघर की सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी।

केंद्रीय बल बिजली संयंत्र को आतंकवाद-रोधी सुरक्षा कवच प्रदान करेगा।

सीआईएसएफ के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘जिले के सूरतगढ़ में स्थित संयंत्र कोयला आधारित आधुनिक तापीय बिजली संयंत्र है। इसकी क्षमता 1,320 मेगावाट है। इसका परिचालन आरवीयूएनएल (राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम लि.) कर रही है।’’

उसने कहा कि संयंत्र को सशस्त्र बल की सुरक्षा प्रदान की की गयी है। देश में कोयला आधारित तापीय बिजलीघरों के लिये बढ़ते खतरे को देखते हुए यह कदम उठाया गया है।

राजस्थान के बिजली संयंत्र की सुरक्षा सीआईएसएफ के 191 सुरक्षाकर्मी संभालेंगे। इनकी अगुवाई डिप्टी कमाडेंट स्तर के अधिकारी करेंगे।

क्षमता के हिसाब से राजस्थान का यह सबसे बड़ा बिजली संयंत्र हैं और यह श्री गंगानगर जिले में स्थित है जिसकी सीमा पाकिस्तान से लगती है।

भाषा

रमण महाबीर

महाबीर

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password