Chandra Grahan 2022: इस दिन लगने जा रहा है साल का पहला चंद्र ग्रहण, भारत में दिखेगा या नहीं

नई दिल्ली। सोमवार यानि 16 मई को Chandra Grahan 2022 यानि साल का पहला चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। जो पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा। इस दिन वैशाख की पूर्णिमा भी है। इस दिन पवित्र नदियों मेंं दान, स्नान आदि किया जाता है। आपको बता दें सूर्य ग्रहण की तरह ही इस चंद्र ग्रहण का असर भारत में नहीं होगा। यानि ये भारत में नहीं दिखाई देगा। पर ज्योतिषाचार्यों की मानें तो लेकिन कुछ राशियों पर इसका विशेष प्रभाव जरूर पड़ेगा। चलिएि जानते हैं कौन सी हैं वे राशियां।

शुभ काम होते हैं वर्जित —
आपको बता दें ऐसा माना जाता है कि किसी भी ग्रहण के दौरान शुभ कार्य नहीं करना चाहिए। ये समय केवल भगवान की पूजा के लिए होता है। चूंकि ये चंद्र ग्रहण भी भारत में दिखाई नहीं देगा, इसलिए सूतक काल यहां यानि भारत में मान्य रहीं होगा।

 

  • साल का पहला चंद्र ग्रहण दिनांक 16 मई साल 2022
  • चंद्र ग्रहण का प्रारंभ सुबह 07 बजकर 58 मिनट
  • चंद्र ग्रहण का समापन दिन में 11 बजकर 25 मिनट

चंद्र ग्रहण 2022 का सूतक काल:
चूंकि ये भारत में दिखाई ही नहीं देगा इसलिए इसका सूतक काल भी मान्य नहीं होगा। भारत में पूर्णत: सूर्य की उपस्थिति के कारण चंद्र ग्रहण दृश्य नहीं होगा न ही इसकी मान्यता होगी। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चंद्र ग्रहण के समय में 09 घंटे पूर्व से ही सूतक काल प्रारंभ हो जाता है।

यहां दिखेगा चंद्र ग्रहण —
यह ग्रहण पश्चिमी यूरोप, मध्य-पूर्व भाग, अफ्रीका, उत्तर-दक्षिण अमेरिका, अंटार्कटिका, अटलांटिक महासागर एवं प्रशांत महासागर में दिखाई देगा।

इन राशियों के लिए होगा शुभ —
मेष, सिंह और धनु राशि को लोगों के लिए यह ग्रहण शुभ साबित हो सकता है। रुके हुए काम में सफलता मिलेगी। नए व्यापार में के योग हैं। साथ ही नई नौकरी का प्रस्ताव आ सकता है या नौकरी करने वाले लोगों की पदोन्नति हो सकती है। धन वैभव में वृद्धि होगी मां लक्ष्मी की कृपा से धन वर्षा के योग हैं और आर्थिक संकट दूर होंगे।

क्‍या करें

ग्रहण के नकारात्मक असर से बचने के लिए भोजन-पानी, दूध और अन्य खाने के सामान में तुलसी की पत्ती डालें। ताकि ग्रहण के बाद उनका सेवन किया जा सकता है।
घर के मंदिर को ढंक दें। साथ ही इस दौरान मंदिरों के पट बंद रखें।
ग्रहण के दौरान ज्‍यादा से ज्‍यादा समय भगवान की आराधना में बिताएं।
ग्रहण के बाद स्‍नान करके दान जरूर करें। खासतौर पर सफाई कर्मचारियों को दान करना बहुत अच्‍छा माना जाता है।

ग्रहण के दौरान न करें यह काम —

चूंकि ग्रहण के दौरान नकारात्‍मक ऊर्जा बढ़ जाती है इसलिए इस समय कोई भी शुभ काम न करें।
ग्रहण के दौरान सुई में धागा डालने की मनाही की गई है।
सूर्य ग्रहण के दौरान भोजन पकाने और खाने की मनाही है। साथ ही इस दौरान काटने-छीलने का काम भी न करें।
गर्भवती महिलाएं इस दौरान चाकू-कैंची या किसी भी धारदार चीज का इस्‍तेमाल न करें। न ही ये चीजें हाथ में लें।
हण काल के दौरान यात्रा करने से बचें।
नोट : इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित है। बंसल न्यूज इसकी पुष्टि नहीं करता। अमल में लाने से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password