Chambal Expressway: चंबल एक्सप्रेसवे को भारतमाला परियोजना के पहले चरण में किया गया शामिल, जानिए क्या होगा फायदा

Chambal Expressway

नई दिल्ली। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बृहस्पतिवार को कहा कि 404 किलोमीटर लम्बे चम्बल एक्सप्रेसवे को भारतमाला परियोजना के पहले चरण में शामिल कर लिया गया है। यह एक्सप्रेसवे मध्य प्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के दूर-दराज के इलाकों से गुजरते हुए निकलेगा।

पिछले वर्ष गडकरी ने कहा था कि, 8,250 करोड़ की लागत वाला चम्बल एक्सप्रेसवे मध्य प्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के दूर-दराज के क्षेत्रों में रहने वाले गरीबों और आदिवासियों के लिए जीवन बदल देने वाला साबित हो सकता है। उन्होंने इन राज्यों से परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण, पर्यावरण मंजूरी और कर राहत में तेजी लाने का भी आग्रह किया था।

गडकरी ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘चंबल एक्सप्रेसवे (404 किमी), झांसी के बाहर राष्ट्रीय राजमार्ग-26 और राष्ट्रीय राजमार्ग-75 की ग्रीनफील्ड कनेक्टिविटी (16.8 किमी) और राष्ट्रीय राजमार्ग-60 के द्वारका सर्कल से नासिक रोड खंड (5.9 किमी) को भारतमाला परियोजना में शामिल किया गया है।’’

भारतमाला परियोजना राजमार्ग क्षेत्र के लिए एक व्यापक कार्यक्रम है। यह परियोजना आर्थिक गलियारों, तटीय और बंदरगाह से जुड़ने वाली सड़कों और ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे के विकास के माध्यम से माल तथा यात्री आवाजाही की कुशलता को बढ़ाने पर केंद्रित है।

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password