सीसीपीए ने 29 जनवरी से बजट सत्र बुलाने की सिफारिश की

नयी दिल्ली, पांच जनवरी (भाषा) संसदीय मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने संसद का बजट सत्र 29 जनवरी से आठ अप्रैल तक दो हिस्सों में बुलाने की सिफारिश की है और ऐसी संभावना है कि मानसून सत्र की तरह इस दौरान भी पालियों समेत कोविड-19 रोकथाम नियमों का कड़ाई से पालन किया जाएगा।

समिति की सिफारिश के अनुसार, बजट सत्र का पहला चरण 29 जनवरी से 15 फरवरी तक और दूसरा चरण आठ मार्च से आठ अप्रैल तक आहूत होगा।

सीसीपीए की सिफारिशों का हवाला देते हुए सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 29 जनवरी, शुक्रवार को संसद के दोनों सदनों के संयुक्त सत्र को संबोधित करेंगे और केन्द्रीय बजट एक फरवरी को पेश होगा।

सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रपति के संबोधन के बाद 29 जनवरी को लोकसभा में आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया जाएगा।

सत्र के दौरान कोविड-19 से जुड़े तमाम नियमों का पालन किया जाएगा। मानसून सत्र की तरह, बजट सत्र भी दो पालियों में होने की संभावना है (सुबह-शाम)। इसके तहत एक पाली में दोनों सभागारों में एक ही सदन के सदस्य उपस्थित होंगे।

सूत्रों के अनुसार, बजट सत्र के दौरान प्रत्येक सदन (लोकसभा और राज्यसभा) की बैठक पांच-पांच घंटे की होने की संभावना है। लोकसभा की बैठक शाम की पाली में (तीन से आठ बजे शाम) और राज्यसभा की बैठक सुबह की पाली में (नौ बजे से दोपहर दो बजे तक) होने की संभावना है।

लेकिन, राष्ट्रपति के संबोधन और बजट के दिन लोकसभा की बैठक सुबह होने की संभावना है।

कोविड-19 के एसओपी जैसे… मास्क लगाना, दो गज की दूरी बनाए रखना आदि पूरे सत्र के दौरान सांसदों और अधिकारियों/कर्मचारियों सहित सभी लोग पालन करेंगे। इस दौरान सांसदों, लोकसभा और राज्यसभा सचिवालयों के कर्मचारियों की आरटी-पीसीआर जांच भी की जाएगी।

संसद भवन परिसर में प्रवेश करने वाले वाहनों, फाइलों और अन्य चीजों को सेनेटाइज किया जाएगा।

बजट सत्र आहूत करने पर अंतिम फैसला केन्द्रीय मंत्रिमंडल को करना है।

भाषा राजकुमार

राजकुमार

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password