Budaun GangRape: बदायूं में दरिंदगी, मंदिर में महिला के साथ महंत समेत 3 ने किया गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट में डाली रॉड, हड्डियां भी तोड़ी

Budaun Gang Rape and Murder: उत्तर प्रदेश के बदायूं में निर्भया जैसा गैंगरेप का दिलदहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां मंदिर में पूजा करने गई एक 50 वर्षीय महिला के साथ महंत समेत तीन लोगों ने हैवानियत की सारी हदें पार कर दी। महंत, उसके चेले और ड्राइवर ने पहले महिला के साथ दुष्कर्म किया फिर उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड डालने की भी कोशिश की, जिसकी वजह से महिला की पसली, फेफड़ा क्षतिग्रस्त हो गया, कई हड्डियों और पैर को तोड़ने का प्रयास किया गया। शरीर के अन्य हिस्सों में गंभीर चोटें आई हैं। दुष्कर्म के बाद हत्या कर महिला के शव को उसके घर के बाहर फेंककर आरोपी भाग गए।

फिलहाल पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दो आरोपी फरार हैं। इनकी तलाश के लिए पुलिस की चार टीमें लगाई गई हैं। वहीं लापरवाही बरतने के आरोप में थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया गया है।

एसएसपी संकल्प शर्मा ने बताया, 50 साल की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के साथ कथित गैंगरेप और हत्या के मामले में तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों को पकड़ने के लिए चार टीमें गठित की गई हैं।

जानकारी के मुताबिक गैंगरेप और हत्या की यह वारदात बदायूं के एक गांव की है। यहां 3 जनवरी को आंगनवाड़ी कार्यकर्ता पास के गांव में स्थित मंदिर पर रोजाना की तरह रविवार को भी पूजा करने के लिए गई थी। तभी मंदिर के महंत, उसके चेले और ड्राइवर ने महिला को अपनी हवस का शिकार बना लिया। हैवानियत और हत्या करने के बाद देर रात महिला का शव उसके घर के दरवाजे पर फेंक कर फरार हो गए।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, महिला जब काफी देर तक मंदिर से घर नहीं लौटी तब परिजनों ने आसपास के घरों में पूछताछ की लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। इसके बाद परिजनों ने उघैती थाना पुलिस को जानकारी दी, लेकिन पुलिस उन्हें गुमराह करती रही। इसके बाद परिजनों ने मामले की शिकायत एसएसपी से की।

इस मामले में पुलिस की लापरवाही भी सामने आई है। खबरों के मुताबिक, घटनास्थल का मौका मुआयना नहीं किया गया। पुलिस ने घटना के 48 घंटे बाद 5 जनवरी को पोस्टमार्टम कराया।पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि, महिला के प्राइवेट पार्ट में गंभीर चोंट थे। गुप्तांग में रॉड डाले जाने की बात भी सामने आई। महिला के शरीर पर चोट के गंभीर निशान भी मिले हैं। पसली,पैर फेंफड़े भी डैमेज हुए हैं।

खबरों के अनुसार, थानाध्यक्ष ने पुलिस के आलाधिकारी को गुमराह करते हुए बताया था, महिला की कुएं में गिरने से मौत हुई है, लेकिन जब ग्रामीणों और परिजनों के हंगामा किया तब थाना अध्यक्ष की लापरवाही उजगार हुई। इसके बाद एसएसपी ने थाना अध्यक्ष को निलंबित किया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है और फरार आरोपियों की तलाश भी जारी है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password