बीएसएनएल भारतीय दूरसंचार उपकरणों के परीक्षण के बाद विनिर्माताओं को 4जी निविदा की अनुमति देगी -



बीएसएनएल भारतीय दूरसंचार उपकरणों के परीक्षण के बाद विनिर्माताओं को 4जी निविदा की अनुमति देगी

नयी दिल्ली, दो जनवरी (भाषा) सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल विनिर्माताओं को 4जी नेटवर्क की निविदा में भाग लेने की अनुमति देने से पहले भारतीय दूरसंचार उपकरणों की गुणवत्ता का परीक्षण करेगी। कंपनी की ओर से शनिवार को जारी नोटिस में यह जानकारी दी गई।

बीएसएनएल ने दूरसंचार उपकरणों की खरीद के लिए मार्च में 9,300 करोड़ रुपये की 4जी निविदा निकाली थी। लेकिन बाद में उसने इसे कई कारणों से रद्द कर दिया था। इनमें एक वजह यह है कि भारतीय कंपनियों ने आरोप लगाया था कि सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी की परियोजना तरजीही बाजार पहुंच नियमों का अनुपालन नहीं करती और यह विदेशी कंपनियों के पक्ष में झुकी हुई है।

कंपनी की योजना अब 4जी सेवाओं को 57,000 साइटों के लिए उपकरण खरीदने की निविदा निकालने की है। हालांकि, इसका पूरा ब्योरा निविदा दस्तावेज में साझा किया जाएगा।

कंपनी की ओर से निकाले गए रुचि पत्र (ईओआई) में कहा गया है, ‘‘बीएसएनएल की आगामी 4जी निविदा के लिए आत्मनिर्भर भारत की भावना के अनुरूप बोलीदाताओं की पात्रता सुनिश्चित करने और दूरसंचार क्षेत्र के लिए घरेलू विनिर्माण को प्रोत्साहन देने को भारतीय कंपनियों से ईओआई आमंत्रित किया जाता है।’’

बीएसएनएल के कर्मचारियों ने सरकार द्वारा भारतीय कंपनियों के दूरसंचार उपकरणों की खरीद के लिए दबाव डालने की आलोचना की है। उनका कहना है कि भारतीय कंपनियों के उपकरणों की गुणवत्ता खराब है।

नोटिस में कहा गया है, ‘‘इस ईओआई के जरिये खुद को पंजीकृत करने वाली कंपनियां ही आगामी 4जी निविदा में भाग ले सकेंगी। यदि कोई भारतीय कंपनी सभी पात्रता शर्तों को पूरा करती है तो उसे भी ईओआई के प्रावधानों के तहत खुद को पंजीकृत कराना होगा।’’

कंपनियों को ईओआई के लिए 5.9 लाख रुपये का पंजीकरण शुल्क देना होगा।

भाषा अजय

अजय सुमन

सुमन

Share This

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password