Bribe: रिश्वतखोरों के खिलाफ लोकायुक्त विभाग का शिकंजा, रंगे हाथों पकड़ाए अधिकारी और लिपिक

पन्ना। मध्य प्रदेश में लोकायुक्त पुलिस सागर के दस्ते ने शुक्रवार को एक पेट्रोल पंप के लिए अनापत्ति प्रमाण-पत्र (एनओसी) देने के बदले में पन्ना जिले के खाद्य अधिकारी और एक लिपिक को क्रमश: एक लाख 25 हजार और 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। लोकायुक्त पुलिस के उपाधीक्षक राजेश खेड़े ने बताया कि ध्रुव कुमार लोधी की शिकायत पर पन्ना के जिला खाद्य अधिकारी राजकुमार श्रीवास्तव को एक लाख 25 हजार और लिपिक महेश गंगेले को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि आरोपियों ने पेट्रोल पंप के लिये एनओसी जारी करने के बदले लोधी से पांच लाख रुपए की रिश्वत की मांग की थी।

लोधी इससे पूर्व रिश्वत की पहली किश्त के तौर पर श्रीवास्तव को एक लाख 80 हजार रुपए तथा गंगेले को 30 हजार रुपए दे चुका था। खेड़े ने बताया कि शिकायत पर योजना बनाकर लोधी को रिश्वत की रकम के साथ श्रीवास्तव और गंगेले के पास भेजा गया। उन्होंने बताया कि बाद में दोनों आरोपियों को जिला खाद्य अधिकारी के कार्यालय में लोधी से रिश्वत की रकम लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि दोनों आरोपियों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर आगे जांच की जा रही है।

लगातार पकड़े जा रहे रिश्वतखोर
बता दें कि बीते दिनों वीडी शर्मा ने मंच से घोषणा की थी कि रिश्वतखोरों को छोड़ा नहीं जाएगा। साथ ही बीते दिनों पृथ्वीपुर दौरे पर गए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने शिकायत मिलने पर मंच से ही सस्पेंड कर दिया था। वहीं प्रदेश में तेजी से रिश्वतखोरी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। सितंबर के महीने में लोकायुक्त विभाग ने कई करप्ट अधिकारियों को रंगे हाथों पकड़ा है। साथ ही कई जगहों पर छापा मार कार्रवाई कर लाखों की संपत्ति भी जब्त की है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password