MP By election 2020: अब नहीं कर सकेंगे फर्जी मतदान, दोबारा वोट डालने गए तो इस तरह पकड़े जाऐंगे मतदाता

booth app eci

मन्दसौर। टेक्नोलॉजी के इस युग में हर स्तर पर नवाचार किया जा रहा है। भारत निर्वाचन आयोग ने भी इस बार यह निर्णय लिया है की प्रत्येक मतदान केंद्र पर मतदाता की पहचान तथा उसकी उपस्थिति मतदान अधिकारी द्वारा मोबाइल से बुथ ऐप (booth app ) के द्वारा लगाई जाएगी। निर्वाचन आयोग के निर्देश अनुसार प्रत्येक मतदाता को बीएलओ द्वारा घर-घर जाकर मतदाता पर्ची दी गई है। इस मतदाता पर्ची पर क्यूआर कोड बनाया गया है। जब मतदाता इसे लेकर मतदान केंद्र पर पहुंचेगा तब वहां उपस्थित मतदान अधिकारी मोबाइल ऐप से क्यूआर कोड को स्कैन करेंगे और मतदाता का नाम, आयु ,फोटो, मतदाता सूची का क्रमांक, एपिक नंबर आदि को देखकर चिन्हित मतदाता सूची में मिलान करके वोट डालने की अनुमति देगा।

पल-पल की रिपोर्ट प्राप्त होगी

आयोग (election commission of india  ) की इस व्यवस्था से अब मतदाता को मतदान केंद्र पर वोट डालने में कम समय लगेगा, एक मतदाता दो बार वोट नहीं डाल सकेगा, फर्जी मतदान नहीं होगा, इस ऐप के उपयोग से आयोग को प्रत्येक मतदान केंद्र की पल-पल की रिपोर्ट प्राप्त होगी। यदि किसी मतदाता की पर्ची जो बीएलओ ने दी है वो अगर खो जाती है तो उसके लिए आयोग ने यह व्यवस्था दी है, कि मतदान अधिकारी एपिक नंबर, नाम ,सरल क्रमांक से भी मतदाता की उपस्थिति को ऐप के माध्यम से लगा सकेगा। यह ऐप मतदान अधिकारी के मोबाइल पर चलेगा जिसे निर्वाचन अधिकारी ने पंजीकृत किया है।

मतदान अधिकारी के पास एंड्रॉयड फोन होना

अब किसी भी मतदान केंद्र की जानकारी को सत्य रूप से आयोग देख सकेगा तथा जानकारियों में त्रुटियां भी नहीं होगी क्योंकि मतदान अधिकारी जानकारियों का मिलान ऐप से कर सकेगा। मतदान अधिकारियों को मोबाइल ऐप चलाने के लिए प्रशिक्षण दिया गया है और उनकी सभी शंकाओं का समाधान भी किया गया है। इसके लिए यह आवश्यक है कि मतदान अधिकारी के पास एंड्रॉयड फोन होना चाहिए।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password