Bjp in Goa: गोवा में कांग्रेस को 786 वोल्ट की तगड़ा झटका

Bjp in Goa: गोवा में कांग्रेस को 786 वोल्ट की तगड़ा झटका

Bjp in Goa

GOA: महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तित हुए कुछ दिन ही हुए थे  गोवा में सियासी गहमागहमी की खबर सामने आ गई है Bjp in Goa। गोवा में कांग्रेस को जोर का झटका लगा है। गोवा कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत (Digambar Kamat) समेत आठ विधायक आज (10 जुलाई, रविवार) भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल होने वाले हैं। सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक गोवा के 11 कांग्रेस विधायकों में से 8 आज बीजेपी में शामिल हो जाएंगे और इस तरह गोवा कांग्रेसमुक्त (Congress in Goa) होने की तरफ बढ़ रहा है, राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा आज गर्म है। इतनी बड़ी तादाद में जब कांग्रेस के विधायक पार्टी छोड़ जाएंगे तो कांग्रेस का विपक्षी नेता का पद भी अब खतरे में दिखाई दे रहा है।

बीजेपी ने इन विधायकों को मंत्रिपद देने का लालच दिया है। इस वजह से इन विधायकों ने पार्टी के खिलाफ बगावत करने का फैसला किया है। कांग्रेस के एक विधायक ने इस बारे में जानकारी दी है। इसके अलावा कोलकाता में भी कांग्रेस को एक बड़ा झटका लगने की आशंका जताई जा रही है। कांग्रेस के तीन वर्तमान और तीन पूर्व सांसद टीएमसी के संपर्क में बताए जा रहे हैं। यानी यह हफ्ता कांग्रेस के लिए बहुत मुश्किलों भरा माना जा रहा है।

बीजेपी की ओर विधायक चले आठ, गोवा में कांग्रेस साफ?

गोवा में पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत और विपक्षी नेता मायरल लोबो समेत आठ विधायक बीजेपी में शामिल होने जा रहे हैं। बीजेपी के हाई कमांड ने भी इन विधायकों को पार्टी में लेने के लिए हरी झंडी दिखा दी है। अयोग्यता और निलंबन की कार्रवाई टालने के लिए ये आठों विधायक इकट्ठे बीजेपी में शामिल होंगे।

मिशन कामयाब हुआ! केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी आज शाम पहुंचेंगे गोवा

गोवा विधानसभा में 40 सीटें हैं। कांग्रेस के पास 11, बीजेपी के 20, महाराष्ट्र गोमांतक पार्टी के 2 और निर्दलीय 3 विधायक हैं। प्राप्त जानकारियों के मुताबिक इन तेजी से बदलते घटनाक्रम को देखते हुए आज शाम केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी गोवा जा रहे हैं।

आखिर क्यों उलटफेर हो रहा भारी, 2024 की तैयारी?

इस बीच बताया जा रहा है कि बीजेपी का एक गुट कांग्रेस विधायकों को पार्टी में लिए जाने को इच्छुक नहीं है। लेकिन 2024 के लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए फैसले किए जा रहे हैं। इसकी वजह यह है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को दक्षिण गोवा में हार का मुंह देखना पड़ा था। ऐसे में बीजेपी इन इलाकों में कांग्रेस के मजबूत विधायकों को अपनी ओर खींचने की कोशिश में लगी हुई है। हालांकि इस बारे में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सदानंद तनावडे़ ने कुछ भी जानकारी होने से इनकार किया है।

पहले भी भाजपा कांग्रेस को दे चुकी है जोर का झटका

इससे पहले भी गोवा में कांग्रेस के विधायक बड़ी तादाद में बीजेपी में शामिल हो चुके हैं। जुलाई 2019 में विपक्षी नेता चंद्रकांत बाबू कावलेकर ने कांग्रेस के 9 विधायकों के साथ बीजेपी में एंट्री ली थी। 2022 के चुनाव से पहले कांग्रेस ने अपने विधायकों को मंदिरों और चर्च में पार्टी के प्रति निष्ठा पालन करने की शपथ दिलाई थी।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password