छुट्टी के आवेदन में आरक्षक ने लिखा था नोट, DIG ने किया लाइन अटैच

छुट्टी के आवेदन में आरक्षक ने लिखा था नोट, DIG ने किया लाइन अटैच

भोपाल: इमोशनी ब्लैकमेल करके छुट्टी मांगना सिपाही को भारी पड़ गया। सिपाही ने छुट्टी के आवेदन में एक नोट लिखा जिससे की अफसरों का पारा चढ़ गया और उसे लाइन अटैच कर दिया। दरअसल, मामला कुछ ऐसा है कि ट्रैफिक पुलिस भोपाल के एक सिपाही ने छुट्टी के लिए आवेदन दिया और उसमें नोट लिखा- सगे साले की शादी है और पत्नी ने उसे धमकी दी है कि अगर वो शादी में नहीं पहुंचा तो उसे परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। इसी नोट को पढ़कर DIG ने आरक्षक को लाइन हाजिर कर दिया।

दरअसल, दिलीप अहिरवार ट्रैफिक पुलिस भोपाल में आरक्षक के पद पर हैं। दिलीप ने सोमवार को DIG को ट्रैफिक को छुट्टी का आवेदन लिखा था। इसमें उसने लिखा कि मेरे सगे साले की शादी 11 दिसंबर को है, इसलिए प्रार्थी को 5 दिन का अवकाश दिया जाए।

इसके साथ ही उसने लिखा नोट- प्रार्थी की पत्नी का स्पष्ट कहना है कि अगर भाई की शादी में नहीं आए, तो परिणाम अच्छा नहीं होगा। इस तरह के दबाब बनाने वाले पत्र की जानकारी लगते ही एएसपी ट्रैफिक संदीप दीक्षित ने बताया कि दिलीप लगातार अवकाश पर रहता है। इस तरह से छुट्टी का आवेदन दिया जाना उचित नहीं था, इसलिए डीआईजी ने अनुशासनहीनता मानते हुए किया लाइन अटैच

11 महीने में 55 छुट्टीयां ले चुका है आरक्षक

ASP संदीप दीक्षित ने बताया कि दिलीप अभी कुछ दिन पहले ही छुट्टी से लौटा है। वह 28 नवंबर तक छुट्टी पर था। बीते 11 महीने वह 55 दिन की छुट्टी ले चुका है। हर बार कोई न कोई कारण बनाकर अवकाश पर चल जाता है।

किसान आंदोलन के कारण अवकाश पर रोक

भोपाल में किसान आंदोलन को देखते हुए पुलिस में छुट्टियों पर रोक है। ऐसे में अधिकारियों का मानना है कि दिलीप ने सिर्फ संवेदन प्राप्त कर छुट्टी लेने का यह तरीका खोजा होगा। वैसे विभाग में जरूरत के अनुसार सभी को अवकाश दिया जाता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password