Bhopal Poisonous Liquor Factories :जहरीली शराब की फैक्ट्रियों पर बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने नष्ट की लाखों की अवैध शराब

BHOPAL Poisonous Liquor Factories

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में जहरीली शराब कांड में मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 24 हो गया है। मुरैना में हुए इस घटना के बाद सीएम शिवराज ने सख्त निर्देश दिए थे और कहा था कि इस तरह की घटना दोबारा न हो। सीएम शिवराज की सख्ती के बाद प्रदेश के सभी जिलोें आबकारी विभाग एक्शन में दिखाई दे रहे है। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में आज आबकारी विभाग ने लाखों रुपए की अवैध शराब BHOPAL Poisonous Liquor Factories पकड़ी। बताया जा रहा है कि आज टीम के द्वारा जहरीली शराब की फैक्ट्री को पकड़ा गया है। जहरीली शराब मिलते ही टीम ने लाखों के कीमत की अवैध शराब नष्ट करवा दिया। जानकारी के अनुसार ये अवैध शराब भोपाल जिले के कई गांवों में पकड़ी गई है।

 

मुरैना जिले में  मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 24

उधर मुरैना जिले में जहरीली शराब कांड (Morena poisonous liquor incident) में मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 24 हो गया है। जहरीली शराब पीने से बीमार लोगों में से तीन और लोगों की मौत हो गई है। जबकि अभी भी करीब एक दर्जन लोग बीमार हैं, जिनका मुरैना और ग्वालियर के अस्पतालों में इलाज जारी है।

आज रमेश (40), कैलाश (60) और पंजाब (60) ने दम तोड़ा है। पंजाब किरार छैरा मानपुर भाजपा मंडल अध्यक्ष राजपाल सिंह किरार के भाई हैं। शराब कांड की जांच करने के तीन सदस्यीय अधिकारियों की एक टीम भी आज मानपुर गांव पहुंची, यहां अधिकारियों ने मृतकों के परिजनों से बात की। इस जांच दल में अपर मुख्य सचिव राजेश राजौरा, एडीजीपी ए सांई मनोहर और डीआईजी मिथलेश शुक्ला शामिल हैं। इस मामले की जांच के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) द्वारा 3 सदस्यीय दल जांच का गठन किया गया है।

छैरा गांव में तालाब से नकली शराब बरामद
इसी बीच गुरुवार को जिले के छैरा गांव में तालाब से नकली शराब का जखीरा भी बरामद किया गया है। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस और आबकारी विभाग ने कार्रवाई की। तालाब के किनारे नकली शराब छुपाकर रखी गई थी।

अब तक इन अधिकारियों पर गिरी गाज
जहरीली शराब कांड में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को बड़ी कार्रवाई की थी। सीएम ने मुरैना कलेक्टर अनुराग वर्मा और एसपी अनुराग सुजानिया को हटा दिया। जौरा एसडीओपी सुजीत भदौरिया और आबकारी उपनिरीक्षक दिनेश कुमार निगम समेत बागचीनी थाने के पूरे स्टाफ को सस्पेंड कर दिया गया है। मुरैना में नए कलेक्टर और एसपी की नियुक्ति भी कर दी गई है।

गौरतलब है कि, इस मामले में मंगलवार देर रात दो आरोपियों की गिरफ्तारी हुई। सात लोगों पर मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने सभी फरार आरोपियों पर 10-10 हजार का इनाम घोषित किया है।

 

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password