Bengal Election 2021 : बंगाल चुनाव के नतीजे पर बोले ज्योतिषाचार्य, इस बार इनकी बनने जा रही है सरकार

इस समय बंगाल चुनाव सबसे ज्यादा सुर्खियों में हैं। देखना ये है कि इस बार ममता सरकार का राज रहेगा या नहीं, एक अंदाजा ही लगाया जा सकता है। Jyotishacharya said on result of Bengal election, 2021 तो आइए हम भी ज्योतिष की नजर से दीदी का भाग्य ख्ंगालने की कोशिश करते है। कुंडली की गणना को देखें तो दो भाव ममता सरकार के पक्ष में हैं और दो विरोध में है और लगभग यही स्थिति बीजेपी के साथ भी बन रही है। ज्योतिषाचार्य अनिल कुमार पाण्डेय के अनुसार की गणना को देखें तो दो भाव ममता सरकार के पक्ष में हैं और दो विरोध में है और लगभग यही स्थिति बीजेपी के साथ भी बन रही है।

मुख्य पांच भावों में दोनों पक्ष की बराबरी

हार—जीत के लिए चौथा भाव मायने रखता है। ममता दीदी की कुंडली में चौथा भाव जनता का है जो कि कमजोर है। इस प्रकार चतुर्थ भाव का स्वामी खराब भाव में समरूप में बैठा है । जिसके कारण जनता के अंदर तृणमूल कांग्रेस के बारे में कोई अच्छे विचार नहीं रहेंगे। शनी स्वयं अपनी राशि से चतुर्थ भाव को देख रहा है परंतु ये अस्त होकर कमजोर है। शनि ग्रह से प्रभावित ताकते टीएमसी का पक्ष मजबूती से नहीं लेंगीं। वही छठा भाव शत्रुओं का भी कमजोर है यानि उनके विरोधी दीदी पर भारी रहेंगे।

परास्त नहीं हो पाएंगे

छठे भाव का स्वामी गुरु सप्तम भाव में अपनी नीच राशि में बैठा हुआ है परंतु नीच भंग राजयोग बना रहा है। इस भाव में शुक्र बैठा हुआ है जो कि मजबूत नहीं है परिणाम स्वरूप टीएमसी के शत्रु उससे परास्त नहीं हो पाएंगे।

कोई फायदा नहीं मिल पाएगा

भाग्य के विश्लेषण के लिए नवम भाव मायने रखता है वहीं उनका नौवा भाव मजबूत है जिसमें चंद्रमा बैठा है। नवम भाव का स्वामी बृहस्पति इस कुंडली में अस्त है अतः हम यह कह सकते हैं कि भाग्य के कारण टीएमसी को कोई फायदा नहीं मिल पाएगा। दशम भाव मजबूत है जिसमें मंगल बैठा है जो कि अपनी स्वराशि में है अर्थात यह मजबूत भाव यह बताता है कि टीएमसी इस इलेक्शन में सत्ता का भरपूर उपयोग करेगी।

गुरु की अंतर्दशा राहु का प्रत्यंतर

28 अप्रैल 2021 से 17 जून 2021 मंगल की महादशा में गुरु की अंतर्दशा राहु का प्रत्यंतर है । यह दशा भी बीजेपी के लिए ठीक रहेगी। अगर हम इसकी और सूक्ष्म विवेचना करें तो पाते हैं कि मंगल की महादशा में गुरु की अंतर्दशा में राहु के प्रत्यंतर में राहु की सूक्ष्म दशा 28 अप्रैल 2021 से 4 मई 2021 तक है । अतः यह समय बीजेपी के लिए अनुकूल है । इसके उपरांत मंगल की महादशा में गुरु के अंतर्दशा में राहु के प्रत्यंतर में गुरु की सूक्ष्म दशा 5 मई 2021 से 11 मई 2021 तक है ।

बीजेपी की स्थिति टीएमसी से ज्यादा बेहतर

यह दशा बीजेपी के लिए सामान्य रहेगी । इसके उपरांत मंगल की महादशा में गुरु के अंतर्दशा में राहु की प्रत्यंतर दशा में शनी की सूक्ष्म दशा 12 मई से 20 मई तक है । जो कि थोड़ा सा पहले से बेहतर होगी तथा इसके उपरांत बुध की सुक्ष्म दशा आएगी जो कि 20 मई से 27 मई तक है । यह दशा बीजेपी के लिए अच्छी रहेगी । इस प्रकार हम कह सकते हैं की विशोन्तरी दशा के मामले में बीजेपी की स्थिति टीएमसी से ज्यादा बेहतर है.

बंगाल में बीजेपी का मुख्यमंत्री बनेगा

कुंडली मकर लग्न की बनी है। लग्न में शनि सूर्य गुरु और बुद्ध हैं। चौथे भाव में अपनी राशि में मंगल विराजमान हैं। पांचवें भाव में उच्च के राहु और उच्च के ही चंद्रमा विराजमान हैं। एकादश भाव में केतु एवं द्वादश भाव में शुक्र है। चतुर्थ भाव का मंगल जो कि स्वराशि में है अतः अत्यंत मजबूत स्थिति में है। जो स्पष्ट करता है की जनता का बीजेपी को भरपूर समर्थन मिल रहा है। छठे भाव में कोई ग्रह नहीं है तथा छठे भाव का मालिक लग्न में अपने सम राशि में बैठा हुआ है जोकि मजबूत स्थिति में कहा जा सकता है।

गुरु अस्त होने से उसका प्रभाव नहीं होगा

द्वादश भाव में बैठकर शुक्र इसको मित्र दृष्ट से देख रहा है। परिणाम स्वरूप बीजेपी अपने शत्रुओं पर भारी रहेगी। नवम भाव में भी कोई ग्रह नहीं है और इसका स्वामी भी बुद्ध ही है। इसके ऊपर राहु की दृष्टी ठीक नहीं है। साथ ही गुरु की दृष्टि भी ठीक नहीं है। परंतु गुरु अस्त होने से उसका प्रभाव नहीं होगा।

बीजेपी को कोई मदद नहीं मिलेगी

दशम भाव में कोई ग्रह नहीं है तथा इसका स्वामी शुक्र है । शुक्र अपने समभाव में बैठा हुआ है । परंतु द्वादश भाव में है अतः हम कह सकते हैं कि बीजेपी को शासन से कोई मदद नहीं मिलेगी। इसी प्रकार मंगल भी दशम भाव को देख रहा है और इस प्रकार इससे भी बीजेपी को कोई मदद नहीं मिलेगी।

बीजेपी अपने शत्रुओं पर भारी है

शनि अपनी राशि में बैठकर दशम भाव को देख रहा है। यह एक मजबूत स्थिति मैं है। परंतु शनि के अस्त होने के कारण यह भी कोई बहुत ज्यादा मदद नहीं कर पाएगा। इस प्रकार हम कह सकते हैं की कुंडली के हिसाब से बीजेपी और टीएमसी करीब-करीब बराबर की स्थिति में हैं।

टीएमसी का राज्य भाव बहुत बलवान है तथा बीजेपी का जनता का भाव बहुत बलवान है। टीएमसी का भाग्य भाव बलवान है परंतु बीजेपी अपने शत्रुओं पर भारी है।

विशोन्तरी दशा के मामले में बीजेपी की स्थिति टीएमसी से ज्यादा बेहतर
हम गोचर पर ध्यान दें तो 6 अप्रैल से गुरु दूसरे भाव में होगा तथा थोड़ी बेहतर स्थिति में रहेगा । शनि स्वराशि में होकर लग्न में रहेगा जिसका पराक्रम भाव तथा राज्य भाव पर अनुकूल असर रहेगा । सूर्य 14 अप्रैल से उच्च का होकर चतुर्थ भाव में बैठेगा ।

यह भी बीजेपी के लिए बहुत अच्छा है। अतः हम कह सकते हैं की गोचर बीजेपी के बहुत अनुकूल होगा । अतः हम कह सकते हैं थी कि बंगाल इलेक्शन बीजेपी के पक्ष में है परंतु हमारे पुराने रिकॉर्ड के अनुसार सत प्रतिशत सही भविष्यवाणी चुनावों की दिनों की घोषणा के उपरांत ही की जा सकती है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password