Bank Reopen: पांच दिन के बाद खुले बैंक , ग्राहक अब आसानी से कर सकेंगे अपने काम

 मुम्बई। सरकारी बैंको की हड़ताल 16 मार्च को खत्म हो गई है। बैंको के ग्राहक अब आसनी से लेनदेन के काम कर सकेंगे। सरकारी बैंको के निजीकरण के विरोध में देशभर के बैंक कर्मचारी दो दिन की हड़ताल पर थे। करीब 10 लाख बैंक कर्मचारी दो दिन का हड़ताल पर रहें। बैंको के निजीकरण का यें फैसला वित्त मंत्री ने बजट में लिया था। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह भरोसा भी दिलवाया था कि बैंको के निजीकरण के फैसले से बैंको के विलय या निजीकरण से कर्मचारियों के हितों का नुकसान नही होने दिया जाएगा। सरकार देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी में भी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी में है। आकड़ो के मुताबिक, मोदी सरकार सरकारी कंपनियों में हिस्सेदारी बेचने के लिहाज में अव्वल है।

लक्ष्य 2010 लाख करोड़ रुपए
मई 2014 में केंद्र में बीजेपी की सरकार आई तब से लेकर आज तक 131 कंपनियों की हिस्सेदारी बेची जा चुकी है। केंद्रीय बजट में 2021-2022 के लिए विनिवेषश का लक्ष्य 1.75 लाख करोड़ रूपए कर दिया गया है. इसके लिए कई बैंक जैसे IDBI बैंक, भारत प्रेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड ,पवन हंस, एयर इंडिया सहित अन्य की रणनीतिक बिक्री करेगी। 202-2021 के लिए विनिवेश से रकम जुटाने का लक्ष्य 2010 लाख करोड़ रुपए था।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password