Bank News: नए साल की शुरुआत में PNB ने ग्राहकों को दिया बड़ा झटका, कई सेवाओं पर बढ़ाया चार्ज

pnb

Bank News: 2022 के शुरूआत में ही पंजाब नेशनल बैंक ने अपने ग्राहकों को बड़ा झटका दिया है। PNB ने अपने तमाम सेवाओं पर चार्ज को बढ़ा दिया है। बैंक ने कहा है कि अब शहरी क्षेत्रों के सभी ग्राहकों को अपने खाते में कम से कम 10 हजार रूपए बैलेंस रखना जरूरी होगा। नहीं तो ग्राहकों से इसके बदले में चार्ज लिया जाएगा।

इतना देना होगा चार्ज

PNB ने अपने आधिकारिक वेबसाइट पर इसकी जानकारी दी है। जानकारी के अनुसार तमाम चार्जेस को 15 जनवरी से लागू किया जाएगा। अगर शहरी क्षेत्रों में तिमाही आधार पर औसत बैलेंस 10 हजार रूपए नहीं होगा, तो ग्राहकों को 600 रूपए का चार्ज देना होगा। बता दें कि पहले बैलेंस लिमिट शहरी इलाकों में 5 हजार रूपए का था। लेकिन अब इसे बढ़ाकर दोगुना कर दिया गया है। पहले की तुलना में चार्ज को भी दोगुना कर दिया गया है। पहले 300 चार्ज किया जाता था, लेकिन अब इसे भी 600 कर दिया गया है।

ग्रामीण इलाकों में भी चार्ज को बढ़ाया गया है

शहरी इलाकों के अलावा ग्रामीण और सेमी अर्बन इलाकों के अकाउंट्स के लिए भी इस चार्ज को बढ़ा दिया गया है। पहले जहां 1 हजार से कम बैंक बैलेंस रहने पर 200 रूपए चार्ज किया जाता था। वहीं अब इस चार्ज को बढ़ाकर 400 रूपए कर दिया गया है। हालांकि, ग्रामीण इलाकों के बैंक अकाउंट्स में लो बैलेंस सीमा को अभी भी 1 हजार रूपए ही रखा गया है।

लॉकर चार्जेस को भी बढ़ाया गया

लो बैलेंस लिमिट के अलावा, लॉकर चार्जेस में भी बदलाव किया गया है। अर्बन और महानगरों में लॉकर के चार्ज को 500 रूपए तक बढ़ा दिया गया है। वहीं ग्रामीण इलाकों में जहां पहले छोटे साइज के लॉकर का चार्ज एक हजार रूपए था। उसे अब बढ़ाकर 1250 रूपए कर दिया गया है। वहीं अर्बन इलाकों के छोटे लॉकर के चार्ज को बढ़ाकर 2000 कर दिया गया है। पहले इसके लिए 1500 चार्ज किया जाता था।

बड़े और मध्यम साइज के लॉकर का चार्ज

छोटे लॉकर के अलावा मध्यम साइज के लॉकर का चार्ज ग्रामीण इलाकों में 2 हजार से बढ़ाकर 2,500 और अर्बन इलाकों में 3 हजार से बढ़ाकर 3,500 कर दिया गया है। वहीं बड़े लॉकर का चार्ज ग्रामीण इलाके में ढाई हजार से 3 हजार और अर्बन इलाके में 5 हजार से बढ़ाकर 5,500 रूपए कर दिया गया है। जबकि सबसे बड़े साइज के लॉकर का चार्ज ग्रामीण और शहरी दोनों इलाकों में 10 हजार रूपए है इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है।

जानकारी के अनुसार आप एक साल में 12 बार बैंक में लॉकर के लिए विजिट कर सकते हैं। अगर आप इस लिमिट को पार कर लेते हैं तो आपको बाद में हर विजिट पर 100 रूपए का एक्स्ट्रा चार्ज देना होगा। मालूम हो को कि पहले लॉकर के लिए 15 बार बैंक विजिट कर सकते थे। लेकिन अब इसे भी घटा दिया गया है।

1 साल के अंदर अकाउंट बंद कराने पर इतना चार्ज

इन सभी चीजों के अलावा अगर आप अब करेंट अकाउंट को खोलने के 14 दिन और एक साल के अंदर अगर आप बंद कराते हैं तो 800 रुपए का चार्ज देना होगा, जो कि पहले 600 रुपए होता था। वहीं एक फरवरी से आपकी किसी किस्त या निवेश का डेबिट अकाउंट में पैसा न होने की वजह से फेल होता है तो इसके लिए आपको 250 रुपए का चार्ज देना होगा। अभी तक इसके लिए 100 रुपए का चार्ज लगता था। अगर आप डिमांड ड्राफ्ट को कैंसिल कराते हैं तो अब 150 रुपए देने होंगे। इसके लिए अभी 100 रुपए चार्ज लगता था।

चेक रिटर्न पर 150 रुपए का चार्ज

इसी तरह से चेक रिटर्न होने की स्थिति में भी चार्ज बढ़ा दिया गया है। एक लाख रुपए से कम के चेक पर चार्ज 100 से बढ़ाकर 150 रुपए कर दिया गया है। एक लाख से ज्यादा मूल्य वाले चेक रिटर्न पर 200 रुपए की जगह 250 रुपए चार्ज देना होगा। अगर आप सेविंग अकाउंट से महीने में 3 बार बैंक की शाखा में पैसा जमा करते हैं तो यह फ्री होगा, लेकिन उससे ज्यादा बार कैश जमा करने पर 50 रुपए प्रति ट्रांजैक्शन चार्ज देना होगा। पहले यह 25 रुपए था और महीने में 5 बार फ्री ट्रांजैक्शन था।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password