Bank Loan: लोन लेने वाले की हो जाए मृत्यु, तो बैंक उसके लोन का निपटारा कैसे करती है?

Bank Loan: लोन लेने वाले की हो जाए मृत्यु, तो बैंक उसके लोन का निपटारा कैसे करती है?

Bank Loan: हम सब अपने जीवन में कभी न कभी लोन (Bank Loan) जरूर लेते हैं। चाहे वो निजी तौर पर किसी व्यक्ति से ले या बैंक से लोन Bank Loan लें। कई बार हम ऐसी परिस्थिति में होते हैं कि हमें ऐसा करना ही पड़ता है। चाहे बच्चों की पढ़ाई के लिए लोन लेना हो, बेटी की शादी के लिए लेना हो या घर Home Loan बनाने के लिए। अगर आप बैंक से लोन लेने तों बैंक आपको अलग-अलग ब्याज दर पर कई लोन देते हैं।

Bank Loan : अगर बैंक नहीं दे रहा आपको लोन, तो करें यहां शिकायत, फिर मिलेगा लोन

क्या हैं नियम?

मृत्यु के बाद लोन के भुगतान को लेकर हर लोन के लिए अलग नियम है. यह नियम होम लोन में अलग होते हैं तो पर्सनल लोन के लिए अलग तरह से कार्रवाई की जाती है। इसलिए आपको हर लोन के हिसाब से समझना होगा कि लोन वाले शख्स की मृत्यु के बाद लोन का भुगतान कौन करता है?

INDIA का फुल फॉर्म क्या है? क्या आप जानते है, नहीं तो ये रहा

होम लोन में क्या हैं नियम?

दरअसल, जब भी होम लोन लिया जाता है तो लोन के एवज में घर के कागज गिरवी रखे जाते हैं यानी घर गिरवी रखा जाता है। होम लोन की स्थिति में जब उधार लेने वाले शख्स की मृत्यु हो जाती है तो को-बोरोवर पर इसकी जिम्मेदारी होती है। या फिर व्यक्ति के उत्तराधिकारी पर लोन जमा करने की जिम्मेदारी होती है, अगर वो लोन का भुगतान कर सकते हैं तो ही उन्हें जिम्मेदारी दी जाती है।

इसके अलावा उन्हें ऑप्शन दिया जाता है कि वो संपत्ति बेचकर लोन का भुगतान करें। अगर ऐसे भी नहीं होता है तो बैंक लोन के एवज में रखी गई संपत्ति को नीलाम कर देता है और इससे लोन की बकाया राशि वसूल लेता है। इसके अलावा कई बैंक एक नया ऑप्शन काम में लेने लगे हैं। दरअसल, बैंक की ओर से लोन लेने वक्त ही एक इंश्योरेंस करवा दिया जाता है और अगर व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो बैंक इंश्योरेंस के माध्यम से इसे वसूल लेता है।

पर्सनल लोन और वाहन लोन के क्या हैं नियम?

पर्सनल लोन सिक्योर्ड लोन नहीं होते हैं। ऐसे में पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड लोन की स्थिति में मृत्यु हो जाने के बाद बैंक किसी दूसरे व्यक्ति से पैसे नहीं वसूल सकते हैं। साथ ही उत्तराधिकारी की भी पर्सनल लोन को लेकर कोई जिम्मेदारी नहीं होती है। ऐसे में व्यक्ति की मृत्यु के साथ ही लोन भी खत्म हो जाता है। वही व्हीकल लोन एक तरह से सिक्योर्ड लोन होता है। इस स्थिति में अगर व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो बैंक घर वालों को लोन का भुगतान करने के लिए कहता है। अगर वो लोन का भुगतान नहीं करता है तो बैंक व्हीकल को बेचकर लोन का पैसा वसूल कर लेते हैं।

बैंक नहीं दे रहा आपको लोन, तो करें यहां शिकायत

भारत सरकार आम जनता के उत्थान के लिए कई योजनाएं चलाती आ रही है। इन योजनाओं में लोन योजना भी शामिल है। केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (Bank Mudra loan) के तहत तीन लोन देती है। किशोर लोन, शिशु लोन, और तरूण लोन (Bank Mudra loan) इस योजना के तहत 50 हजार से लेकर 10 लाख रूपये तक के लोन दिए जातेे है ताकी लोन लेकर आप अपना व्यापार शुरू कर सकें लेकिन कुछ बैंक लोगों को लोन देने से इनकार कर देते है। तो कई बैंक लोगों को लोन के लिए चक्कर लगवाते है। ऐसे में आपके मन में सवाल उठता है कि आखिर ऐसी शिकायतें कहां करे। ताकि आपको जल्द और समय पर लोन मिल जाए। तो आइए बताते है कि ऐसी शिकायते कहा की जा सकती है।

क्या होता है मुद्रा लोन (Bank Mudra loan)?

ऐसी शिकायते कहां करें यह जानने से पहले यह जानना जरूरी है कि आखिर मुद्रा लोन क्या है? (Bank Mudra loan) अगर आप अपना खुद का कारोबार खड़ा करना चाहते है तो इस योजना के तहत बैंक से 10 लाख रुपये तक का लोन ले सकते हैं। मुद्रा लोन (Bank Mudra loan) तीन तरह के होते है। जिनमें पहला शिशु लोन, दूसरा किशोर लोन और तीसरा तरुण मुद्रा लोन शिशु मुद्रा लोन के तहत अपना व्यापार शुरू करने के लिए 50 हजार रुपये तक लोन दिया जाता है। दूसरा किशोर लोन, इस लोन के तहत 50 हजार रुपये से लेकर 5 लाख रुपये तक का लोन दिया जाता है। लेकिन आपको इस लोन को चुकाने के लिए 14 से 17 फीसदी ब्याज देना होता है। तीसरा लोन तरुण मुद्रा लोन, इसके तहत आपको 10 लाख रुपये तक लोन मिल सकता है। इस पर 16 फीसदी का ब्याज देना होता है।

नहीं मिले लोन तो करें यहां शिकायत

नेशनल – 1800 180 1111 और 1800 11 0001
छत्तीसगढ़ – 18002334358
हरियाणा – 18001802222
उत्तर प्रदेश – 18001027788
उत्तराखंड – 18001804167
राजस्थान – 18001806546
मध्य प्रदेश – 18002334035
महाराष्ट्र – 18001022636
बिहार – 18003456195
हिमाचल प्रदेश – 18001802222
झारखंड – 18003456576

कैसे मिलेगा लोन (Bank Mudra loan)

लोन (Bank Mudra loan) लेने के लिए आपको स्टेट बैंक ऑफ इंडिया बैंक में अपना पहचान पत्र, निवास प्रमाण, बैंक स्टेटमेंट, फोटोग्राफ, बिक्री दस्तावेज, कोटेशन्स और स्थाई पता प्रमाण पत्र देना होता है। साथ ही आपको जीएसटी आइडेंटिफिकेशन नंबर, इनकम टैक्स रिटर्न की जानकारी भी देनी होगी। लोन के लिए आप चाहते तो एसबीआई की इस वेबसाइट पर आवेदन कर सकते हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password