बदायूं की घटना की उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के अधीन जांच हो : कांग्रेस

नयी दिल्ली, छह जनवरी (भाषा) कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में एक महिला की कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार के बाद हत्या किए जाने के मामले को लेकर बुधवार को राज्य की भाजपा सरकार पर निशाना साधा और कहा कि उच्च न्यायालय के किसी वर्तमान न्यायाधीश के अधीन इस मामले की जांच होनी चाहिए।

पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने आरोप लगाया कि महिला सुरक्षा पर सरकार की नीयत में खोट है।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘हाथरस में सरकारी अमले ने शुरुआत में फरियादी की नहीं सुनी, सरकार ने अफसरों को बचाया और आवाज को दबाया। बदायूं में थानेदार ने फरियादी की नहीं सुनी, घटनास्थल का मुआयना तक नहीं किया। महिला सुरक्षा पर उप्र सरकार की नीयत में खोट है।’’

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी इस घटना को लेकर उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार पर हमला किया और सवाल किया कि आखिर योगी आदित्यनाथ सरकार कब जागेगी?

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘वीभत्स, जघन्य, मानवता हुई शर्मसार! कितनी और निर्भया? कितनी और हैवानियत? कब जागेगी आदित्यनाथ सरकार? कहां हैं हमारे सजग पत्रकार?’’

कांग्रेस नेता अलका लांबा ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘उन्नाव, हाथरस की घटनाओं की तरह बदायूं में भी पुलिस और प्रशासन विफल रहा है तथा आरोपियों को बचाने का प्रयास कर रहा है। यह बहुत गंभीर विषय है।’’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘योगी आदित्यनाथ सरकार महिलाओं की सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं है। अपराधियों में किसी तरह का खौफ नहीं है।’’

अलका ने सवाल किया, ‘‘इसकी जांच होनी चाहिए कि मुख्य आरोपी अब तक फरार क्यों है? क्या भाजपा के लोग उसे बचा रहे हैं?’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमारी मांग है कि इस मामले में 24 घंटे के भीतर मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी की जाए। त्वरित अदालत में मुकदमा चलाया जाए और दोषियों को सजा दी जाए। पूरे मामले की जांच उच्च न्यायालय के वर्तमान न्यायाधीश के अधीन करवाई जाए। पीड़ित परिवार को कानूनी मदद के साथ 50 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाए।’’

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल खुद एक महिला हैं। मुझे समझ नहीं आया कि उनकी टिप्पणी इस पर क्यों नहीं आई? केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी से भी उम्मीद है कि वह उन्नाव और हाथरस की तरह इस बार चुप नहीं रहेंगी। वह बोलेंगी और न्याय दिलाने की कोशिश करेंगी।’’

गौरतलब है कि बदायूं के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने बुधवार को बताया कि गत रविवार को उघैती थाना क्षेत्र के एक गांव में मंदिर गयी 50 वर्षीय एक महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।

उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में महिला के साथ बलात्कार की पुष्टि हुई है और उसके गुप्तांग में चोट के निशान तथा पैर की हड्डी टूटी पाई गई है।

भाषा हक

हक दिलीप

दिलीप

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password