ASSAM FLOOD Crisis: 107 लोगों की मौत के बाद 45.34 लाख लोग प्रभावित

ASSAM FLOOD Crisis: 107 लोगों की मौत के बाद 45.34 लाख लोग प्रभावित, डूबग्रस्त बना पूरा राज्य

असम। ASSAM FLOOD Crisis मानसून के पहले से जारी बारिश और बाढ़ से हाहाकार मचा हुआ है वहीं पर इधऱ पिछले 24 घंटे में 7 लोगों की मौत के साथ मौतों का आंकड़ा बढ़कर अब तक 107 लोगों की मौत के साथ बढ़ गया है।

स्कूल और आंगनवाड़ियों में घुसा पानी

आपको बताते चलें कि, असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार, बाढ़ की स्थिति इतनी भयंकर हो गई है कि, नागांव में रोहा क्षेत्र के फुलगुरी के सरकारी विभाग के कार्यालयों, स्कूलों और अस्पतालों के परिसर में बाढ़ का पानी घुसा। (23.06)बाढ़ की वजह से आंगनवाड़ी बंद है जिसकी वजह से हम लोग प्री-स्कूल नहीं चल पा रहे हैं इसलिए हम रिलीफ कैंप में ही प्री-स्कूल के शारीरिक गतिविधियां करा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने इस कैंप का जायज़ा लिया है। वहीं पर सिलचर और कछार ज़िले में बाढ़ की स्थिति अभी भी बनी हुई है। प्रभावित इलाकों में बचाव अभियान चलाया जा रहा है।

 

पीएम मोदी ने कही बात

बाढ़ की स्थिति तो लेकर नरेंद्र मोदी ने कहा है कि केंद्र असम में बाढ़ की स्थिति की लगातार निगरानी कर रहा है तथा इस चुनौती से निपटने के लिए हरसंभव सहायता प्रदान करने की खातिर राज्य सरकार के साथ मिलकर काम कर रहा है।‘‘सेना और एनडीआरएफ के दल बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में मौजूद हैं. वे बचाव अभियान चला रहे हैं और प्रभावित लोगों की मदद कर रहे हैं. वायुसेना ने बचाव अभियान के तहत 250 से अधिक उड़ानें भरी हैं.’’ इस बीच आज, कछार और बारपेटा में दो-दो, बजली, धुबरी और तामुलपुर जिलों में एक एक व्यक्ति की जान चले जाने से, मध्य मई से अबतक 108 लोगों की मौत हो चुकी है।अधिकांश प्रभावित जिलों में ब्रह्मपुत्र और बराक नदियां तथा उनकी सहायक नदियां उफान पर हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password